सपा एमएलसी संजय लाठर को सोशल मीडिया पर दी गाली, समर्थकों में रोष

0
622

मथुरा। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं एमएलसी संजय लाठर के नाम से सोशल मीडिया पर स्थानीय सपा नेताओं ने डाॅ. संजय लाठर के नाम से ग्रुप बनाया हुआ है। जिसमें ग्रुप से जुडे़ एक व्यक्ति द्वारा एमएलसी लाठर के लिए आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया गया। इसके बाद ग्रुप में हंगामा खड़ा हो गया। उस व्यक्ति को ग्रुप से बाहर कर दिया गया।

एमएलसी संजय लाठर के समर्थकों ने जनपद में व्हाट्सएप पर ग्रुप बनाया हुआ है। जिसमें 155 से अधिक सपा समर्थकों के साथ मीडिया के लोग भी जुड़े हुए हैं। इस ग्रुप में सपा नेता की सभाओं एवं अन्य कार्यक्रमों की सूचना जारी की जाती है। साथ ही मीडिया की खबरों को भी पोस्ट किया जाता है। सपा नेता वर्ष 2012 में मांट विधानसभा से चुनाव लड़ चुके हैं। साथ ही इस बार भी वह सपा रालोद गठबंधन से मांट विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारियों में जुटे हुए हैं। इसके लिए ही मांट क्षेत्र के ही लोगों को इस गु्रप में जोड़ा गया है। इस गु्रप में एमएलसी संजय लाठर भी जुड़े हुए हैं।

बताते हैं कि गत दिवस नौहझील क्षेत्र के गांव कोलाहर के पूर्व फौजी ने संजय लाठर के लिए आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग करते हुए गाली भी दी। इसके बाद सपा समर्थक उग्र हो गए और उन्होंने कमेंट करने वाले पूर्व फौजी को न सिर्फ जमकर गरियाया। वरन् मारपीट करने की भी धमकी देने लगे। मामले को तूल पकड़ते देख गु्रप एडमिन ने जहां गाली देने वाले व्यक्ति को गु्रप से रिमूव कर दिया। वहीं दूसरी तरफ कुछ समझदार लोग मामले पर पर्दा डालने में जुट गए। वरिष्ठ नेता डाॅ. अशोक अग्रवाल ने समर्थकों को समझाते हुए कहा कि मूर्खाें की बातों पर अधिक ध्यान नहीं देना चाहिए। ऐसे लोगों को दरकिनार कर देना चाहिए।

आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग होने की जानकारी मिलने पर सपा नेता संजय लाठर ने भी इस मामले को अधिक तूल न देते हुए अपने समर्थकों को समझाने का प्रयास किया। उन्होंने गु्रप में करीब 8 बजे की गई अपनी पोस्ट में लिखा कि संभवतः रात्रि में फौजी भाई ने पी ली होगी। इसलिए यह अनावश्यक टिप्पणी कर दी। अतः सभी साथी इस बात को भूल जाएं। सपा नेता एमएलसी लाठर की दरियादिली को देखकर समर्थकों ने आपत्तिजनक भाषा के प्रयोग पर विराम लगा दिया। हालांकि सोशल मीडिया पर सपा नेता लाठर के बयान के बाद गु्रप में समर्थकों का आक्रोश भले ही थम गया हो लेकिन क्षेत्र में उनके समर्थक पूर्व फौजी की तलाश में जुटे हुए हैं। इस संबंध में सपा नेता संजय लाठर से विषबाण द्वारा संपर्क स्थापित किया गया लेकिन उनका फोन अटेंड नहीं हो सका।