मथुरा के दो गांवों में दबंगों ने रोकी पानी की निकासी, तालाब में तब्दील हुए गांव

0
529

मथुरा। योगी सरकार के भयमुक्त समाज के दावों की दबंग किस तरह जमकर धज्जियां उड़ा रहे हैं। इसका नजारा नौहझील के दो गांव भैरई एवं मनीगढ़ी में आसानी से देखा जा सकता है। यहां दबंगांे ने गंदे पानी की निकासी को रोक दिया है। इससे गांव में ही जलभराव की स्थिति उत्पन्न हो गई है और बीमारियां फैलने का डर बना हुआ है। ग्रामीणों ने प्रशासन को अवगत करा दिया है।

थाना नौहझील के गांव भैरई स्थित तालाब पर दबंगों द्वारा कब्जा किए जाने के कारण गांव का गंदा पानी कन्नू ठाकुर के प्लाॅट में जा रहा था। गत दिवस कन्नू ठाकुर द्वारा गंदे पानी को रोक दिया गया। इससे यह गंदा पानी दूसरे पड़ोसी राजेश जाटव के घर की ओर मुड़ गया। घर में सील आने से नुकसान की आशंका के चलते उसने भी पानी को रोक दिया। इससे पूरा जाटव मोहल्ला ही गंदे पानी से भर गया। यहां गलियों में कई फुट पानी भर गया है। कई घरों में भी पानी भर गया है। महिलाओं और बच्चों को इस तालाब रूपी गलियों में से निकलने पर मजबूर होना पड़ रहा है। गंदे पानी के जमाव से मच्छर भी उत्पन्न हो रहे हैं और बीमारियां भी अपने पैर पसार सकती हैं। बताया जाता है कि आगामी पंचायत चुनाव में वोटर्स के बिगड़ने के डर से कोई इसका विरोध नहीं कर रहा है। स्थानीय ग्रामीण एवं संघ कार्यकर्ता राजकुमार चौधरी का कहना है कि इस समस्या से प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है लेकिन अभी तक समाधान नहीं हो सका है। शिकायत करने वालों में अजीत सिंह, महीपाल, चतुर सिंह ठाकुर, डाॅ. राजपाल, राजेश कुमार, ब्रजमोहन, चंदन सिंह, मोहन सिंह, बनवारी लाल, मलखान, रामकिेशोर, रनवीर, बनवारी लाल, विनय, मान सिंह, तेजवीर, बलवीर, भोला, रामेश्वर सिंह सहित अन्य ग्रामीण शामिल हैं।

भैरई गांव की तर्ज पर चंद किलोमीटर दूर गांव मनीगढ़ी बांगर में भी खेतों की ओर जा रहे गंदे पानी को दबंगों ने रोक दिया है। इससे पूरा गांव तालाब के रूप में तब्दील हो गया। यहां भी कई-कई फुट गंदा पानी भर गया है। यह पानी घरों में भी प्रवेश कर गया है। ग्रामीणों का घर से निकलना भी दूभर हो गया है। वह घरों में कैद होकर रह गए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि पानी रोकने वाले दबंग किस्म के लोग हैं। इनके खिलाफ आवाज उठाने पर गांव में अशांति उत्पन्न हो सकती है। गांव के पूर्व प्रधान प्रतिनिधि चौधरी रामवीर सिंह ने बताया कि गांव की हालत के बारे में तहसीलदार एवं सीओ मांट सहित अन्य अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। इसके बाद भी अभी तक पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं हो सकी है। इससे गांव में संक्रमण फैलने का खतरा लगातार बना हुआ है।

एसडीएम मांट से बात करने का प्रयास किया गया लेकिन उनका फोन स्विच्ड आॅफ बता रहा था।
तहसीलदार मांट ने बताया कि गांव मनीगढ़ी बांगर में दबंगों द्वारा पानी की निकासी रोकने की जानकारी उन्हें मिली है। इस संबंध में संबंधित थाने को अवगत करा दिया गया है।