ऋण न देने पर बैंक मैनेजर पर चले लात-घूंसे, एक नामजद

0
449

मथुरा। कस्बा नौहझील के गांव मानागढ़ी स्थित बैंक में उस समय अचानक अफरा तफरी मच गई। जब एक बकाएदार के पुत्र ने अचानक मैनेजर से मारपीट शुरू कर दी। जमकर लात-घूंसे चले। बैंक स्टाफ और ग्राहकों के बीच बचाव के बाद आरोपी युवक वहां से भाग खड़ा हुआ। पीड़ित मैनेजर ने थाना नौहझील में तहरीर दी है।

थाना नौहझील अंतर्गत गांव मानागढ़ी स्थित सिंडीकेट बैंक में नितेश कुमार बैंक मैनेजर के रूप में कार्यरत हैं। बुधवार की दोपहर में करीब 3.30 बजे वह प्रतिदिन की भांति अपने काम निपटा रहे थे। इसी दौरान पड़ोसी गांव खाजपुर निवासी युवक अशोक कुमार उनसे ऋण संबंधी कार्य के लिए उनसे मिलने आया। बैंक मैनेजर ने अशोक कुमार की लोन की फाइल स्वीकार करने से इंकार करते हुए कहा कि आपके पिता ने बैंक से ऋण ले रखा था। उन्होंने यह ऋण नहीं चुकाया और उनकी मौत हो गई। अतः जब तक वह ऋण नहीं चुक जाता तब तक नया लोन पास नहीं हो सकता है।

इसी बात को लेकर बैंक मैनेजर और युवक के बीच विवाद खड़ा हो गया। युवक ने मैनेजर को मां-बहन की गालियां देना शुरू कर दिया। जब मैनेजर ने इसका विरोध किया तो युवक ने मैनेजर का गिरहबान पकड़कर लात घूंसे बरसाना शुरू कर दिया। मारपीट होती देख बैंक के स्टाफ और अन्य ग्राहकों ने इसका विरोध किया तो आरोपी युवक मौके से फरार हो गया। मैनेजर ने चैकी इंचार्ज को फोन किया लेकिन उनका फोन स्विच्ड आॅफ था। इसके बाद पीड़ित मैनेजर अपने साथियों के साथ थाना नौहझील पहुंचे। यहां उन्होंने आरोपी युवक के खिलाफ नामजद तहरीर दी है।

विषबाण से बातचीत में शाखा प्रबंधक नितेश कुमार ने मारपीट की घटना को स्वीकार करते हुए बताया कि नामजद आरोपी के खिलाफ थाने में तहरीर दे दी गई है। तहरीर के आधार पर मुकदमा लिखा जा रहा है। वह फिलहाल थाने में ही मौजूद हैं।
इस संबंध में थानाध्यक्ष नौहझील से वार्ता करने का प्रयास किया गया लेकिन उनका फोन आउट आॅफ नेटवर्क बताता रहा।