परिषदीय स्कूल के आॅनलाइन क्लासेज गु्रप में अभिभावक ने डाला अश्लील वीडियो, गिरफ्तार

0
722

मथुरा। कोरोना लाॅकडाउन के चलते सरकारी विद्यालयों में चल रही आॅनलाइन क्लास में एक अभिभावक द्वारा अश्लील वीडियो डाले जाने पर अध्यापक की शिकायत पर पुलिस ने अभिभावक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इसे लेकर शिक्षक और अभिभावकों में रोष व्याप्त है।

पुलिस हिरासत में अश्लील वीडियो डालने वाले आरोपी

कोरोना लाॅकडाउन के कारण सरकारी निर्देशों के आधार पर निजी एवं सरकारी विद्यालयों में आॅनलाइन क्लास संचालित की जा रही हैं। थाना बरसाना के नगला जरैला हाथिया के परिषदीय विद्यालय के इंचार्ज प्रधानाध्यापक त्रिलोकचंद शर्मा ने बच्चों को पढ़ाने के लिए व्हाट्स पर आॅनलाइन क्लासेज नगला जरैला नाम से गु्रप बना रखा था। इस गु्रप में कुल 61 सदस्य जुडे़ हुए हैं। इनमें से जिन बच्चों पर मोबाइल नहीं है ऐसे बच्चों के अभिभावकों को गु्रप से जोड़ रखा है। कक्षा 2 के एक छात्र के पिता जुनैद भी इस गु्रप से जुड़े हुए थे। प्रधानाध्यापक का आरोप है कि अभिभावक जुनैद ने 11 अक्टूबर को एक अश्लील वीडियो पोस्ट कर दिया। इसके चलते गु्रप से जुड़े हुए सदस्यों और स्टाफ को काफी शर्मिंदगी उठानी पड़ी। इससे आहत होकर इंचार्ज प्रधानाध्यापक ने थाना बरसाना में आरोपी अभिभावक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। पुलिस ने आरोपी जुनैद को गिरफ्तार कर लिया है। थानाध्यक्ष बरसाना ने विषबाण को बातचीत में बताया कि आरोपी को आईटी एक्ट में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

आरोपी को बचाने के प्रयास में लगे रहे राजनेता और दिग्गज
सूत्रों की मानें तो पुलिस ने मुकदमा दर्ज होने के बाद ही आरोपी जुनैद को हिरासत में ले लिया था लेकिन उसके बाद ही पुलिस पर जुनैद को छोड़ देने का दबाव बनाने के लिए क्षेत्रीय राजनेताओं और दिग्गजों के फोन खड़खड़ाने शुरू हो गए थे। यह भी चर्चा है कि उक्त राजनेताओं ने शिक्षक पर भी मुकदमा दर्ज न करने और तहरीर वापस लिए जाने का काफी दबाव बनाया लेकिन प्रधानाध्यापक द्वारा मुकदमा वापस नहीं लिया गया। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने इसी दबाव के चलते आरोपी को 3 दिन तक थाने में बिठाए रखा। इसके बाद शुक्रवार को चालान कर जेल भेज दिया। आरोपी को 3 दिन तक थाने में हिरासत में रखना क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।