मथुरा के बिल्डर ने विरोधियों को फंसाने के लिए रचा षडयंत्र, महिला सहित 10 हिरासत में

0
605

मथुरा। दिन दहाड़े चार नकाबपोश युवकों द्वारा एक बिल्डर्स की महिला मैनेजर को उठाकर ले जाने और पटक कर उसकी अस्मत से खेलने के मामले का पुलिस ने पटाक्षेप कर दिया है। इस मामले की वीडियो भी वायरल की गई थी। पुलिस के अनुसार घटना को अंजाम देने के पीछे चार लोगों को फंसाने की साजिश थी। इसमें पैसे के मोटे लेनदेन का खुलासा भी हुआ है। बिल्डर और उसके कर्मचारियों को हिरासत में लेकर गहन पूछताछ की जा रही है। इनके खिलाफ कार्रवाई की तैयारी भी हो रही है।

थाना हाईवे के क्षेत्र बाजना में सोमवार को एक क्लाइंट को प्लॉट दिखाने जा रही दीपांजलि बिल्डर्स की महिला मैनेजर को हथियारबंद बदमाशों ने दबोच लिया था। हथियारों के बल पर उक्त युवती के साथ न केवल छेड़छाड़ की गई, बल्कि उसे जमीन पर गिरा कर दुराचार का प्रयास किया गया। युवती द्वारा शोर मचाने पर पहुंचे स्थानीय लोगों ने बमुश्किल युवती को दरिंदों से छुड़ाया। इस दौरान पड़ोस में काम कर रहे एक युवक ने उक्त घटना का वीडियो भी बना लिया था।

पीड़ित युवती ने इस घटना की नामजद तहरीर हुक्मी व दाऊजी पुत्रगण धन सिंह निवासी बाजना, रामकिशन व चंद्रभान पुत्रगण मनोहरी निवासी मेडू नगला हेमराज निवासी राल के खिलाफ थाना हाइवे में दी थी। पुलिस ने तहरीर के आधार पर चार लोगों को नामजद कर मुकदमा संगीन धाराओं में दर्ज कर लिया गया था। जिन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया वह स्वयं ही पुलिस के सामने आए और उन्होंने पुलिस के सामने खुद को बेकसूर बताते हुए कहा कि उनको इस मामले में फर्जी तरीके से फंसाया जा रहा है। उनका इस मामले से कोई लेना देना नहीं है। इस पर पुलिस ने पूरे मामले की गहनता से जांच शुरु कर दी।

पुलिस ने घटना के दौरान बनाए गए वीडियो का बारीकी से निरीक्षण किया। इसमें देखा गया कि जो लोग महिला मैनेजर से छेड़छाड़ कर रहे हैं वह कद काठी में कैसे हैं। एसएसपी डा. गौरव ग्रोवर ने इस मामले की कमान एसपी सिटी उदय शंकर सिंह को सौंपी। पीड़ित महिला मैनेजर से पूछताछ की गई तो उसकी बातों में भी झोल नजर आया, वीडियो में दिखाई दे रहे युवक उसके द्वारा बताये कद काठी के नहीं दिखाई दे रहे थे। जांच में यह बात सामने आ गई कि बिल्डर्स के कहने पर महिला मैनेजर उक्त चारों युवकों को छेड़छाड़ के मामले में फंसाना चाहती थी। ताकि चारों युवकों पर दबाव बनाया जा सके।

एसएसपी डा. गौरव ग्रोवर

बिल्डर सुरेंद्र पटेल ने रचा था पूरा षडयंत्र
एसएसपी डा. गौरव ग्रोवर ने बताया कि महिला मैनेजर को पकड़ने और उसे जमीन पर गिराकर उसका वीडियो बनाने की पूरी घटना को बिल्डर सुरेंद्र पटेल ने एक षड़यंत्र के तहत तैयार कराया था। इसके पीछे एक विवादित जमीन में सामने आये चार लोगों को फंसाकर समझौते का दबाव बनाने की मंशा थी। लेकिन नामजद आरोपियों के स्वयं ही पुलिस के पास जाने और इस मामले में बेकसूर होने के सबूत देने के साथ ही पूरा मामला पलट गया और बिल्डर्स की योजना फेल हो गई। एसएसपी के निर्देश पर सुरेंद्र पटेल समेत 9 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। इनके खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज कराने की कार्रवाई भी करने का पुलिस मन बना चुकी है।