12 को किसान बचाओ महापंचायत में रालोद-सपा दिखाएंगे ताकत

0
56

मथुरा। राष्ट्रीय लोकदल की किसान बचाओ महापंचायत का आयोजन सोमवार 12 अक्टूबर को किया जा रहा है। इस महापंचायत में सिर्फ राष्ट्रीय लोकदल के नहीं वरन् समाजवादी पार्टी के भी वरिष्ठ नेता प्रतिभाग कर रहे हैं। इस महा पंचायत के माध्यम से रालोद और सपा दोनों ही किसानों में अपनी पैठ बनाने का प्रयास कर रहे हैं। ताकि आगामी विधानसभा चुनावों में इसका लाभ लिया जा सके।
केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में किसान अध्यादेश पारित किया गया है लेकिन देश भर के किसानों द्वारा इसका जमकर विरोध किया जा रहा है। इसके चलते कई राज्यों में किसानों के ऊपर राज्य सरकारों द्वारा लाठीचार्ज भी किया गया। उत्तर प्रदेश में भी किसानों द्वारा किसान अध्यादेश का विरोध किया जा रहा है। विपक्षी दलों को भी सत्ताधारी पार्टी का विरोध करने का मौका मिल गया है। वहीं हाथरस कांड ने भी विपक्षी पार्टियों को प्रदेश की सरकार पर उंगली उठाने का मौका दे दिया। साथ ही विपक्षी नेताओं पर लाठीचार्ज कर प्रशासन ने भी उन्हें हावी होने का मौका दे दिया है।
हाथरस कांड में परिजनों से मिलने जा रहे रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी के ऊपर भी पुलिस प्रशासन ने लाठीचार्ज कर दिया था। इसका रालोद द्वारा किसान महापंचायत के आयोजन के माध्यम से जमकर विरोध किया जा रहा है। किसान महा पंचायत में जहां किसान बिल का विरोध किया जा रहा है। वहीं जयंत चौधरी पर हुए लाठीचार्ज को भी किसान अस्मिता से जोड़कर प्रचारित किया जा रहा है। ताकि रालोद को किसानों से जोड़ा जा सके।
इसी श्रंखला में मुजफफरनगर में 8 अक्टूबर को किसान बचाओ महा पंचायत का आयोजन किया गया। जबकि 12 अक्टूबर सोमवार को मथुरा स्थित बालाजीपुरम् में सुबह 11 बजे से किसान बचाओ महापंचायत का आयोजन होगा। इस महापंचायत में मथुरा के साथ-साथ अलीगढ़, हाथरस, आगरा, मेरठ, मुजफफरनगर, फिरोजाबाद, एटा, कासंगज सहित अन्य जनपदों के भी रालोद एवं सपा समर्थक मौजूद रहेंगेे। साथ ही रालोद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी, जिलाध्यक्ष रामरास पाल पौनियां, डाॅ. अशोक अग्रवाल, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अनूप चौधरी, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंह सिकरवार सहित अन्य नेता और समाजवादी पार्टी के एमएलसी संजय लाठर, पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव, एमएलसी उदयवीर सिंह, पूर्व एमएलसी असीम यादव, जिलाध्यक्ष लोकमणि कांत जादौन सहित अन्य नेता भी शिरकत कर किसानों को अपने पक्ष में करने का भरपूर प्रयास करेंगे।