सपा एमएलसी ने मांट विधानसभा में किसानों से किया संवाद

0
108

मथुरा। समाजवादी पार्टी के एमएलसी एवं मांट विधानसभा से पूर्व प्रत्याशी रहे डॉ. संजय लाठर दो दिवसीय दौरे के लिए मांट क्षेत्र में हैं। इन दोनों दिनों में उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र में तूफानी दौरे किए हैं। गुरूवार को भी उन्होंने कई गांवों का दौरा किया। जिनमें सपा नेता का जमकर स्वागत सम्मान किया गया।
गांव मनीगढी में डा. संजय लाठर का गर्म जोशी के साथ स्वागत किया। डाॅ. लाठर ने केंद्र सरकार द्वारा पारित किए गये कृषि कानून के ऊपर बोलते हुए कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ने संसद में बिना बहस कराये ही कृषि कानून को पास कर दिया। इसके नुकसान बताते हुए कहा कि जहां पूर्व प्रधानमंत्री किसान मसीहा चौ. चरणसिंह ने किसानों की समस्याओं को दूर करने के लिए व फसल बिक्री पर सही मूल्य दिलाने के लिए कृषि कानून बनाया। जो किसान की हालत अंग्रेजी सरकार में थी। वही हालत फिर से करने लिए ये तानाशाह कानून लागू किया है। कहा कि यदि अनाज मंडी ही बंद कर दी जायेंगी तो क्या किसान अपनी फसल अमेरिका में बिक्री करेगा? यदि करेगा तो उसका खर्चा कौन वहन करेगा? और यदि नहीं तो, जब अनाज मंडी ही नहीं रहेंगी तो किसान अपनी फसल बिक्री करेगा कहां? सरकार स्थान बताये।
डॉ. संजय लाठर ने मांट विधानसभा में अपनी निधि से कराये गये कार्यों को जनता के सामने रखा व अपनी पूर्व की सरकार की उपलब्धियों को जनता के सामने गिनाया। साथ ही कुछ बचे हुए कार्यों को अबकी बार सरकार आने पर पूरा करने का भरोसा दिलाया। डॉ. लाठर ने कहा कि हाल ही में हाथरस में जयंत चौधरी व उनके समर्थकों पर धोखे से लाठीचार्ज करना बहुत ही निंदनीय कृत्य है। इसका हमारी पार्टी पुरजोर विरोध करती है और इस मामले में राष्ट्रीय लोकदल के साथ है।
डॉ लाठर ने आगामी पंचायत चुनावों को लेकर कहा कि अबकी बार हम अपने सहयोगी दल राष्ट्रीय लोकदल के कंधे से कंधा मिलकर हर चुनाव लडेंगे। अंत में जब डॉ. लाठर ने कहा कि मुझे एक बार आपने हराया है लेकिन अबकी बार यदि आपने साथ दिया तो बैल की तरह जोत लेना मैं आपका पूरा वजन सहन करूंगा। इस पर जनता की गगनभेदी तालियों से पांडाल गूंज उठा। कार्यक्रम की अध्यक्षता अमर सिंह पूर्व प्रधान ने की। संचालन पप्पू नेताजी ने किया। इस दौरान चौधरी देवराज सिंह पूर्व जिला पंचायत सदस्य, चौधरी लाखनसिंह सरपंच, दीवान प्रधान, कन्हैया बीडीसी, रमेश डीलर, श्याम पूर्व प्रधान, रामसिंह नेताजी, हरिवंश पं, जहान सिंह पहलवान, बहोरीलाल, रामकिशोर मास्टरजी, प्रहलाद चौधरी, महाराज सिंह, पप्पन नेताजी, होशियार सिंह डीलर, रनवीर सिंह नेताजी, वीरेंद्र मास्टर रायपुर, जीतपाल प्रधान, छिद्दा प्रधान, मानी जाटव, भिकारी जाटव, करुआ जाटव, नौहवत जाटव, संजय बाल्मिकी व सर्व समाज के गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।