मोदी-योगी के पुतलों पर जूते बरसाने वाले रालोद समर्थकों पर मुकदमा दर्ज

0
717

मथुरा। हाथरस के पीड़ित परिवार से मिलने के लिए पहुंचे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करने से गुस्साए रालोद कार्यकर्ताओं ने गत दिवस नौहझील में मोदी-योगी का पुतला फूंका दिया था। साथ ही जूते-चप्पल भी बरसाए थे। इस पर पुलिस ने मंगलवार को रालोद समर्थकों के खिलाफ नामजद एवं अज्ञात में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मथुरा से सांसद रहे जयंत चौधरी दो दिन पूर्व हाथरस के पीड़ित परिवार से मिलने के लिए उसके गांव पहुंचे थे। जहां पर पुलिस ने कार्यकर्ताओं पर लाठी चार्ज कर दिया था। इस लाठीचार्ज में पुलिस ने पूर्व सांसद जयंत चौधरी को भी नहीं बख्शा था और जमकर लाठियां बरसाई। इससे आक्रोशित होकर रालोद के समर्थकों ने जनपद में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन किया था। वहीं कस्बा नौहझील में भी रालोद कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए पुतला फूंका था। साथ ही पुतलों पर जमकर जूते चप्पल भी बरसाए। यह सब क्षेत्राधिकारी मांट रविकांत पाराशर सहित अन्य पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में हुआ था। इससे पुलिस की भी काफी किरकिरी हुई थी। इसी को लेकर मंगलवार को थाना नौहझील में
रालोद समर्थकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया। इसमें 25-30 नामजद एवं अज्ञात के खिलाफ एफआईआर हुई है। इस संबंध में एसओ नौहझील लोकेश भाटी ने भी रालोद कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज होने की पुष्टि की।
रालोद नेता चौधरी भगवती प्रसाद ने विषबाण को बताया कि हम मुकदमों से घबराने वाले नेताओं में से नहीं हैं। ऐसे कितने भी मुकदमे दर्ज हो जाएं। वह नहीं झुकेंगे। बुधवार को इस कार्यवाही को लेकर एक आवश्यक बैठक भी बुलाई गई है। इसमें आगे की रणनीति तय की जाएगी।
वरिष्ठ रालोद नेता योगेश नौहवार ने कहा कि प्रशासन की दमनकारी नीतियों से रालोद कार्यकर्ता दबने वाले नहीं हैं। रालोद कार्यकर्ता आगामी दिनों में जगह-जगह पुतला दहन करेंगे। यदि पुलिस एवं प्रशासन में ताकत है तो वह पुतला दहन होने से रोक कर दिखाए। 8 अक्टूबर को मुजफफरनगर में और 12 अक्टूबर को मथुरा में रालोद शक्ति प्रदर्शन करेगा।