हसनपुर के युवाओं ने हाथरस की बिटिया को दी श्रद्धांजलि

0
652

मथुरा। हाथरस की बिटिया मनीषा के साथ हुई हैवानियत के बाद उसकी मौत से न सिर्फ शहर में बल्कि ग्रामीण अंचल में भी रोष फैला गया है। ग्रामीण द्रवित हैं। नौहझील में भी ग्रामीण युवाओं ने मौन धारण कर कैंडिल मार्च निकालकर श्रद्धांजलि अर्पित कर मनीषा के लिए न्याय की मांग की।
नौहझील के गांव हसनपुर के युवाओं ने योगी सरकार के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि हाथरस की रेप कांड दरिंदों की शिकार हुई मनीषा को 15 दिन के अंदर न्याय नहीं मिला तो वह ईट का जवाब पत्थर से देने को बाध्य होंगे। युवाओं ने कहा कि हिंदूवादी सरकार होने के बावजूद भी हिंदू परंपराओं के अनुसार मनीषा का दाह संस्कार नहीं किया गया। कहा कि माता पिता और ग्राम वासियों को अंतिम संस्कार के दौरान मनीषा मुंह भी नहीं दिखाया गया। न माता को हल्दी लगाने दिया गया। गुस्साए ग्रामीणों ने कैंडल मार्च निकालकर के सरकार का विरोध किया। युवाओं ने मौन धारण कर मनीषा की आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना की। परिवार को दुख की घड़ी में दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए प्रार्थना की।
वहीं युवाओं ने राज्य सरकार, केंद्र सरकार एवं कानून व्यवस्था के प्रति विरोध जताते हुए मनीषा को न्याय दिलाने की मांग की। साथ ही सीएम योगी द्वारा मनीषा के परिवार को 25 लाख रूपए की आर्थिक मदद एवं एक सरकारी नौकरी दिए जाने की घोषणा का स्वागत किया। इस दौरान अरविंद फौजदार, अजीत मास्टर, धनपाल सिंह, प्रदीप नरवार, मोहित मास्टर, चंद्रवीर, गुल्ला, सुभाष, प्रेमवीर, मोहित, पप्पू, रिंकू, विष्णु, अजीत, गौरव, कन्हैया लाल, रामबली, पूरन, धर्मेंद्र, योगेंद्र, बंटी, खेम सिंह, ओम प्रकाश, संजय, प्रेमपाल, शेर सिंह, बनबारी लाल, रूपेश, दीपेश, अजय, गोविंद सिंह, कालू, दिनेश, विजय, देवेंद्र, धीर सिंह, गजेंद्र सिंह, पवन कुमार, लोकेश, जयंत चैधरी, रबी फौजदार, सतेंद्र सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।