गैस एजेंसी संचालकों ने उपभोक्ताओं को लगाया लाखों का चूना, देनी होगी 27.60 रूपए की छूट

0
501

मथुरा। जनपद की गैस एजेंसी संचालकों द्वारा सिलेंडर उपभोक्ता को अब तक लाखों-करोड़ों का चूना लगाया जा चुका है। उपभोक्ताओं के जागरूक न होने के चलते वह कैश एंड कैरी योजना का लाभ नहीं ले पा रहे हैं। हालांकि शिकायत होने के बाद हाल ही में जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा जनपद की सभी गैस एजेंसी संचालकों को कैश एंड कैरी योजना का लाभ उपभोक्ताओं को दिए जाने के निर्देश दिए हैं।
आप गैस सिलेंडर उपभोक्ता हैं और आप गैस एजेंसी के गोदाम पर जाकर ही सिलेंडर लेकर आते हैं तो आप जानते हैं कि गैस एजेंसी संचालक द्वारा उपभोक्ता को कैश एंड कैरी योजना के तहत 27.60 रूपए की छूट दिए जाने का प्रावधान है। यह छूट गैस एजेंसी संचालक द्वारा उपभोक्ता को नहीं दी जा रही है। काफी लंबे समय से चल रही इस योजना में गैस एजेंसी मालिक अब तक लाखों करोड़ों रूपए अपने जेबों में भर चुके हैं। जानकारी न होने के कारण उपभोक्ताओं को इस राशि का चूना लगाया जा रहा था।
एलपीजी सिलेंडर आज हर घर में जरूरत बन चुके हैं। ग्राहकों को सिलेंडर की आपूर्ति देने के लिए जनपद में इंडेन, भारत गैस एवं एचपी आदि कंपनियों की एजेंसी हैं। इसके माध्यम से उपभोक्ताओं को एलपीजी सिलेंडर की सुविधा दी जा रही है। जिन ग्राहकों को होम डिलीवरी होती है। उन्हें कैश एंड कैरी योजना का लाभ नहीं दिया जाता है। लेकिन जो उपभोक्ता गोदाम जाकर सिलेंडर लेते हैं। उन्हें इस योजना का लाभ दिए जाने संबंधी निर्देश हैं। इसके बाद भी इस योजना का लाभ उपभोक्ताओं को लंबे समय से नहीं दिया जा रहा था।
इस घोटाले की आरटीआई एक्टिविस्ट उमाशंकर गौतम द्वारा आईजीआरएस पोर्टल पर आॅनलाइन शिकायत की गई थी। इस शिकायत का समाधान करने के लिए जिला पूर्ति अधिकारी मथुरा को निर्देशित किया गया। जिला पूर्ति अधिकारी मथुरा द्वारा उच्चाधिकारियों से मिले निर्देश का संज्ञान लेते हुए हाल ही में जनपद के सभी गैस एजेंसी संचालकों को आदेश दिए गए हैं कि वह गोदाम जाकर गैस सिलेंडर लेने वाले उपभोक्ताओं को कैश एंड कैरी योजना के तहत 27.60 रूपए की छूट दिया जाना सुनिश्चित करें। इस संबंध में विषबाण ने जिला पूर्ति अधिकारी से संपर्क करने का प्रयास किया लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका।