इन अफसर-नेताओं को कौन पढ़ाएगा कानून का पाठ!

0
396

मथुरा। एक तरफ देश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। वहीं दूसरी तरफ सरकारी मशीनरी सोशल डिस्टेंस और नियम कानून की धज्जियां उड़ा रही है। इसका खुलासा गत दिवस वेटरिनरी कालेज के कृषि विज्ञान केंद्र में आयोजित पोषण सप्ताह कार्यक्रम में हुआ। जहां जनप्रतिनिधियों एवं सत्ताधारी नेताओं की उपस्थिति में सैकड़ों किसान, आशा कार्यकत्री एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री मौजूद रहे। आम जनता पर कोविड-19 के नियम कानून लादने वाले अफसर और सत्ताधारी नेताओं की मौजूदगी में सोशल डिस्टेंसिंग का नियम तार तार हो गया लेकिन इसकी किसी को कोई परवाह ही नहीं थी।
एक ओर गत दिवस देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिवस मनाया जा रहा था। वहीं दूसरी तरफ कृषि विज्ञान केंद्र के हाॅल में पोषण सप्ताह कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें भाजपा जिलाध्यक्ष मधु शर्मा, भाजपा के गोवर्धन विधायक ठा. कारिंदा सिंह, सांसद प्रतिनिधि जनार्दन शर्मा, वेटरिनरी कालेज के कुलपति डाॅ. जीके सिंह एवं कृषि विज्ञान केंद्र प्रभारी डाॅ. एसके मिश्रा सहित अन्य लोगों ने बढ़ चढ़ कर प्रतिभाग किया। कार्यक्रम में बड़ी मात्रा में किसानों, आशाओं एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को भी आमंत्रित किया गया था। इस आयोजन में जमकर कोविड-19 से संबंधित नियमों का जमकर उल्लंघन किया गया। दो गज दूरी, मास्क है जरूरी, का नियम भी इस आयोजन में सभी भूल गए। सभी एकदम आसपास ही रहे। दूरियां बनाने का कोई प्रयास नहीं किया गया।


वहीं दूसरी ओर आम आदमी को किसी भी कार्यक्रम के आयोजन की इजाजत नहीं मिल पा रही है। आम आदमी की न तो उठावनी आयोजित हो रही है। रामलीला का आयोजन भी निरस्त कर दिया गया है। 30 से अधिक व्यक्ति एक जगह एकत्रित नहीं हो पा रहे हैं। उन्हें प्रशासन से परमीशन नहीं मिल रही है। लेकिन सरकारी कार्यक्रम धड़ल्ले से आयोजित किए जा रहे हैं। जबकि इनमें जमकर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। सरकारी कार्यक्रम होने अथवा सत्ताधारी नेताओं के उपस्थित होने के चलते प्रशासनिक अधिकारी भी ऐसे कार्यक्रमों पर कार्यवाही करने से कतराते नजर आ रहे हैं। वेटरिनरी कालेज में आयोजित कार्यक्रम में भी सत्ताधारी नेताओं की मौजूदगी के चलते प्रशासनिक अधिकारी शांत नजर आ रहे हैं। जबकि वेटरिनरी कालेज के कार्यक्रम की कोई परमीशन भी नहीं ली गई थी।
सिटी मजिस्टेªट मनोज कुमार सिंह ने विषबाण को बातचीत में बताया कि वेटरिनरी कालेज में आयोजित कार्यक्रम की उन्हें कोई जानकारी नहीं है। न ही उनके द्वारा ऐसे किसी भी कार्यक्रम की कोई परमीशन दी गई है।
सपा नेता एवं गोवर्धन से प्रत्याशी रहे प्रदीप चौधरी ने कहा कि भाजपा ने किसानों के हित के कार्यक्रम को अपना कार्यक्रम बना लिया। जो कि पूरी तरह गलत है। यह सत्ता की तानाशाही है। बिना परमीशन के हुए इस कार्यक्रम के लिए भाजपा के नेताओं पर प्रशासन को कार्यवाही करनी चाहिए।