वेतन खाते में बदले गोवर्धन के शिक्षकों के बचत खाते, प्राशिसं ने किया था प्रयास

0
42

मथुरा। प्राथमिक शिक्षक संघ गोवर्धन की मुहिम के चलते ब्लॉक में कार्यरत करीब 250 एसबीआई खाताधारक शिक्षकों के बचत खाते को सैलरी एकाउंट में तब्दील कर दिया गया है। इससे अब उन्हें वेतन खाते में मिलने वाले लाभ मिल सकेंगे। ये वो शिक्षक हैं जिनके वेतन खाते लंबे समय से एसबीआई गोवर्धन में संचालित तो थे, लेकिन नियमित वेतन मिलने के बावजूद इन्हें वेतन खाते का कोई लाभ नहीं मिल पा रहा था।

दरअसल, विभाग द्वारा परिषदीय शिक्षकों के वेतन खाते एसबीआई व सिंडीकेट बैंक में ही खुलवाए जाते हैं, लेकिन बैंक इन्हें साधारण बचत खाते के तौर पर ही संचालित करते हैं और शिक्षकों को वेतन खाते का कोई अतिरिक्त लाभ नहीं मिल पाता है। शिक्षकों की इस समस्या का संज्ञान लेते हुए शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष पुनेन्द्र बाबू ने स्टेट बैंक गोवर्धन शाखा के मैनेजर को ज्ञापन देते हुए शाखा में संचालित शिक्षकों के खातों को वेतन खाते में बदलने की मांग की थी। लंबी जद्दोजहद के बाद शाखा प्रबन्धक ने उनकी मांग पर सभी शिक्षकों के खातों को वेतन खातों में बदलने पर सहमति जताई। इसके साथ ही भारतीय स्टेट बैंक गोवर्धन जनपद की पहली शाखा बन गई है, जिसमें शत-प्रतिशत शिक्षकों के खाते सैलरी एकाउंट में दर्ज हो गए हैं।
इस सफलता पर प्राथमिक शिक्षक संघ के कोषाध्यक्ष पूरनचंद वर्मा, नेम सिंह, बच्चू सिंह, भगवान सिंह, भिक्कीराम पटेल, धर्मेन्द्र भारद्वाज, राजेश, संतोष, भरत जोशी, रविन्द्र कुमार, डालचंद, कुंवर सिंह, जमील समेत ब्लॉक के सैकड़ों शिक्षकों ने हर्ष जताया है। पुनेन्द्र बाबू ने बताया कि गोवर्धन के बाद जनपद के अन्य बैंकों को खाताधारक शिक्षकों के खातों को भी सैलरी एकाउंट में बदलने की मुहिम चलाई जाएगी।