स्वयं सहायता समूह सिल रहा परिषदीय विद्यालयों की यूनिफार्म

0
77

चौमुहां। केंद्र सरकार द्वारा संचालित राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत चौमुहां विकास खंड के गांव परखम गुर्जर और पसोली की महिलाएं स्वयं सहायता समूह अपना स्वरोजगार कर रही है। जिससे उनकी अच्छी खासी आमदनी भी हो रही है। कस्बा में करीब 4000 यूनिफार्म सिलाई कराने का लक्ष्य दिया गया है। जिसे अलग-अलग स्वयं सहायता समूह द्वारा तैयार किया जा रहा है।

खंड शिक्षा अधिकारी निशेष जार और एडीओ आइएसबी अजयपाल सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बार परिषदीय स्कूलों में बच्चों की दी जाने वाली यूनिफॉर्म की सिलाई कराने की जिम्मेदारी ग्रामीण क्षेत्रों में बने स्वयं सहायता समूहों को दी है। चौमुहां ब्लॉक को 4000 यूनिफॉर्म की सिलाई कराने का लक्ष्य दिया है। इसमें 1500 यूनिफॉर्म पसोली और 1500 यूनिफॉर्म परखम गुर्जर के स्वयं सहायता समूह को सिलाई के लिए दी गई हैं।

शेष यूनिफॉर्म विकास खंड के अन्य गांवों में संचालित स्वयं सहायता समूह तैयार करने में लगे हैं। एक यूनिफॉर्म की सिलाई के लिए सरकार द्वारा 120 रुपए का मेहनताना दिया जाता है। यूनिफॉर्म का कपड़ा विद्यालय के अध्यापक और शिक्षा समिति के अध्यक्ष उपलब्ध कराते हैं। समूह में कार्य कर रही महिला गायत्री देवी और मंशा देवी ने बताया कि उनका समूह 750 यूनिफॉर्म की सिलाई कर चुका है। बाकी का काम भी जल्द पूरा हो जाएगा। समूह में काम करने वाली महिलाओं का कहना है कि शासन की इस योजना से ग्रामीण क्षेत्र की गरीब महिलाओं को उनके घर पर ही रोजगार उपलब्ध हो रहा है। अब महिलाएं आत्मसम्मान के साथ अपना जीवन यापन कर सकेंगी।