मथुरा में सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ , चार महिला सहित सात गिरफ्तार

0
1366

मथुरा। धर्म की नगरी में स्पा सेंटर की आड़ में अय्याशी के कारोबार का पुलिस ने फिर भंडाफोड़ करते हुए संचालक सहित तीन युवकों और 4 महिलाओं को रंगे हाथ पकड़ा है। समाचार लिखे जाने तक वैधानिक कार्यवाही जारी थी।
थाना कोतवाली के कृष्णानगर चौकी अंतर्गत नेशनल हाईवे स्थित मोती मंजिल काॅम्प्लैक्स में मयूरा यूनिसेक्स स्पा सेंटर में स्पा की आड़ में वेश्यावृत्ति चल रही थी। इसकी सूचना मिलने पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने अपने मुखबिरों से मामले की सत्यता पता लगाने के लिए कहा। मुखबिरों ने मामला सही बताया। इसमें स्थानीय पुलिस की संलिप्तता भी सामने आ रही थी। इसे ध्यान में रखते हुए सीओ सिटी वरुण कुमार सिंह ने थाना हाईवे पुलिस के साथ मिलकर स्पा सेंटर पर छापामार कार्यवाही की। छापे के दौरान स्पा सेंटर में चार महिलाओं को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा गया। वहीं संचालक को पुलिस ने पकड़ लिया।
चौंकाने वाली बात यह रही कि इस पूरी कार्यवाही में सीओ सिटी ने थाना कोतवाली और कृष्णानगर पुलिस चौकी के स्टाफ को शामिल नहीं किया। इससे स्पा सेंटर के चलने में स्थानीय पुलिस की संलिप्तता की चर्चाओं को बल मिल रहा है।
सीओ सिटी ने बताया कि इसकी जानकारी बीते काफी दिनों से मिल रही थी। इससे सोमवार को यहां कार्यवाही की गई। यहां संचालक सहित तीन युवकों और चार महिलाओं को गिरफ्तार किया गया है। इनमें संचालक हरियाणा के पलवल हरियाणा निवासी आशु गोयल, मथुरा के महावन निवासी भारत सिंह एवं मथुरा के कोसीकलां निवासी ओमप्रकाश शामिल हैं। इन सभी के खिलाफ उचित वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।
मथुरा में इससे पहले भी कई बार जिस्मफरोशी के इस गलीच काम का भंडाफोड़ हो चुका है। इसके बाद भी यह काम अभी भी बदस्तूर जारी है। मथुरा के होटल, गेस्ट हाउस एवं वृंदावन में आश्रम के नाम पर संचालित गेस्ट हाउस में वेश्यावृत्ति का काम जोरों पर चलता है। घंटो के हिसाब से कमरे का किराया तय होता है और स्थानीय पुलिस को भी इसकी सभी जानकारी रहती है। सूत्रों का तो यहां तक कहना है कि स्थानीय पुलिस को भी अपने रिश्तेदार अथवा पुलिस अधिकारियों के रिश्तेदारों के लिए होटल अथवा गेस्ट हाउस में कमरे आदि की निशुल्क व्यवस्था करनी होती है। इसके चलते ही पुलिस होटलों आदि में चल रहे वेश्यावृत्ति के इस धंधे की ओर से आंखें मूंदे रहती है।