पुलिस ने दुकानदार को किया घायल, रालोद-ग्रामीणों ने घेरा थाना

0
426

मथुरा/नौहझील।  कोरोना महामारी से त्रस्त जनता पर पुलिस उत्पीड़न के चलते रालोद समर्थकों ने नौहझील थाने का घेराव कर पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए दोषी दरोगा के खिलाफ मुकद्मा दर्ज कराने की मांग की जिसपर आरोपी दरोगा के खिलाफ जांच कर सख्त कार्यवाही आश्वासन देकर दरोगा को लाइन हाजिर कर दिया गया।

गत दिवस नौहझील थाना क्षेत्र के गांव बरौठ चैकी इंचार्ज संदीप अधाना ने गांव बरौठ जाकर कई दुकानदारों से मारपीट की। आरोप है कि दरोगा ने दुकानदारों से हफ्ता मांगा। हफ्ता न देने पर गर्म पानी से भरा भगोना दुकानदार के ऊपर पलट दिया। जिससे दुकानदार ओम प्रकाश चैधरी पुत्र कारे सिंह गंभीर रूप से झुलस गया। इसके बाद पुलिस टीम मौके से भाग खड़ी हुई। इसकी जानकारी ग्रामीणों ने युवा रालोद नेता शोभित चौधरी का दी। जिसपर शोभित चौधरी ने थाना प्रभारी सहित सीओ मांट से दोषी दरोगा के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग की। इसे लेकर युवा रालोद नेता एवं एसओ के बीच कहासुनी हो गई जिसे लेकर युवा रालोद नेता ने गुरूवार को थाने के घेराव का ऐलान किया था। जिसमें गुरूवार को युवा रालोद नेता के नेतृत्व में सैकड़ों ग्रामीण के साथ थाने पहुंच गए और दरोगा के खिलाफ मुकद्मा दर्ज सहित थानाध्यक्ष को निलंबित करने की मांग की। शोभित चौधरी ने कहा है कि जबतक दोषी दरोगा के खिलाफ मुकद्मा और थानाध्यक्ष को निलंबित नहीं किया जायेगा तब तक क्षेत्र की जनता शंात नहीं बैठेगीं सीओ मांट रविकांत पाराशर ने बताया कि बरौठ चैकी इंचार्ज संदीप अधाना को लाइन हाजिर कर दिया गया है। मामले की जांच चल रही है। थाने के घेराव की सूचना पर पूरे थाना प्रांगण को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया। सुरक्षा के लिये बड़ी संख्या में पुलिस बल सहित चार कंपनी पीएससी प्लाटून तैनात की गई।

हंगामे को देख तकरीबन एक घंटा करीब कस्बा नौहझील का बाजार बंद रहा। इस दौरान रामबाबाबू चैधरी, रालोद नेता रविन्द्र नरवार, भगवती प्रसाद चैयरमैन, जगवीर नौहवार, प्रताप सिंह, शैलेन्द्र नरवार, भाकियू के तहसील अध्यक्ष रोहताश चैधरी, चुनमुन चैधरी, शोभित चैधरी आदि शामिल रहे।