डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने लिया श्रीकृष्ण जन्माष्टमी तैयारियों का जायजा

0
655

मथुरा। उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने बताया कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। कोरोना महामारी के दृष्टिगत प्रमुख मन्दिरों के पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के पश्चात निर्णय लिया गया कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पूरे उल्लास के साथ बनायी जाएगी, किन्तु बाहरी श्रद्धालुओं को मन्दिर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी मन्दिरों को परम्परागत से सजाया जायेगा और पूर्व की भांति पूजा-पाठ के कार्यक्रम जारी रहेंगे।
लोक निर्माण गेस्ट हाउस में डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने मन्दिरों के साथ-साथ चैराहों को भी सजाने तथा सड़कों पर लाइटिंग करने की लोगों से अपील की। उन्होंने श्रीकृष्ण जन्मभूमि के पदाधिकारी से वार्ता करते हुए कहा कि श्रीकृष्ण जन्मोत्सव से जुडे़ भजन, छंद एवं श्रीकृष्ण जन्म के संबंध में बताने वाले कार्यक्रमों को लाइव टेलीकास्ट करने के निर्देश दिये। कहा कि लाइव टेलीकास्ट में डीडी न्यूज एवं एएनआई एजेंसी को शामिल किया जाए। जिससे वह अन्य चैनलों को कार्यक्रम उपलब्ध करा सकें।
बैठक में श्रीकृष्ण जन्मभूमि, श्रीबांके बिहारी, श्रीद्वारिकाधीश एवं जनपद के प्रमुख मन्दिरों के प्रबंधकों के साथ-साथ मथुरा वृन्दावन के सभी मन्दिरों की सजावट के लिए कहा गया। मेयर डाॅ. मुकेश आर्य बन्धु एवं नगर आयुक्त रविन्द्र कुमार मांदड़ ने मन्दिर एवं चैराहों की सजावट करने का आश्वासन दिया। डिप्टी सीएम द्वारा श्री जन्माष्टमी की बैठक के पश्चात कोविड-19 से रक्षा करने के लिए चलाये जा रहे कार्यक्रमों के विषय में जानकारी ली। उन्हंे बताया गया कि जनपद में 1200 से अधिक प्रतिदिन टेस्ट किये जा रहे हैं। 66 प्रतिशत से अधिक रिकवरी रेट है। बैठक में जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने बताया कि एंटीजन द्वारा जनपद में विभिन्न स्थानों पर टेस्ट किये जा रहे हैं, साथ ही रैण्डम टेस्ट भी किये जाते हैं। उन्होंने बताया कि एल-1 हाॅस्पिटल में पहले की अपेक्षा दबाव कम हुआ है। एल-2 केएम और केडी हाॅस्पिटल में व्यवस्था बनी हुई है। प्राईवेट नर्सिंग होम के संबंध में जानकारी लेने पर बताया गया कि नियति हाॅस्पिटल में अलग से वार्ड बने हुए हैं, जो व्यक्ति प्राईवेट इलाज कराना चाहते हैं, उनका वहां इलाज किया जाता है। अन्य कोई प्राईवेट हाॅस्पिटल कोविड-19 के इलाज हेतु नहीं है। क्वांरटाइन केन्द्रों के बारे में बताया गया कि कृष्णा कुटीर में 800 से अधिक बेड हैं। जहां प्रतिदिन मरीजों हेतु साफ-सफाई एवं भोजन पानी की व्यवस्था है। जिसका प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा निरंतर निरीक्षण किया जाता है। बताया कि 27 आॅक्सीजन बेड जनपद में हैं तथा वेंटीलेटर बेड़ों की व्यवस्था केडी और केएम हाॅस्पिटल में बनायी गयी है। इससे पहले डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा आगरा पहुंचे थे। वहां कोविड 19 सुरक्षा को लेकर समीक्षा बैठक में दिनेश शर्मा की तबियत अचानक बिगड़ गई। इससे वहां अफरा तफरी मच गई। वहां मेडिकल टीम को बुलाया गया। प्राथमिक चिकित्सा से उन्हें थोड़ी राहत मिली। तबियत बिगड़ने के चलते डिप्टी सीएम निर्धारित समय से करीब एक घंटा देरी से मथुरा आ सके।
इस अवसर पर उप्र व्यापार कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष रविकांत गर्ग, विधायक गोवर्धन ठा. कारिन्दा सिंह, बल्देव विधायक पूरन प्रकाश, भाजपा जिलाध्यक्ष मधु शर्मा, आईजी ए सतीश गणेश, मुख्य विकास अधिकारी नितिन गौड़, उपाध्यक्ष एमवीडीए नगेन्द्र प्रताप, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. राजीव गुप्ता सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।