गुटबन्दी: भाजपा मण्डल अध्यक्ष पर फायरिंग, कार में तोड़-फोड़, संघ कार्यकर्ता सहित 7 के खिलाफ रिपोर्ट

0
1146

मथुरा। इसे सत्ता की हनक कहें या फिर भाजपा में व्याप्त गुटबन्दी में अपना अधिपत्य जमाने का प्रयास माना जाये कि अब सत्ता का नशा आपसी गोलीबारी एवं तोड़फोड़ मारपीट तक पहुंच गया है जिसमें एमलसी चुनाव व्यवस्था में जुटे भाजपा मण्डल अध्यक्ष से दूसरे गुट के समर्थक ने पहले तो बुरा भला कहा फिर तोड़-फोड़ कर फायरिंग कर दी। जिसमें भाजपा संघ से जुड़े कार्यकर्ता सहित अन्य के खिलाफ जानलेवा हमले की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। जबकि प्रतिवादी पक्ष ने इसे झूठा बताया है।

भाजपा में एक तरफ जहां गुटबन्दी चरम सीमा पर व्याप्त है वहीं दूसरी तरफ सत्ता का नशा सिर चढ़कर बोल रहा है। इसका नजारा शनिवार को नौहझील थानाक्षेत्र के गांव कोलाहर में उस समय सामने आया जब बाजना मण्डल अध्यक्ष चौधरी देवेन्द्र सिंह उर्फ छोटू अपने समर्थकों के साथ एमएलसी चुनाव की तैयारियों को गांव कौलाहर निवासी बाजना मण्डल के महामंत्री रामेश्वर शर्मा के आवास पर कार्यकर्ताओं की बैठक करने के लिये पहुंचे। जहां दूसरे गुट के समर्थक सौरभ सनातनी ने मण्डल अध्यक्ष के साथ अभद्रता कर दी और जमकर कहासुनी हुई। जिसमें वहां उपस्थित कार्यकर्ताओं ने बीच-बचाव कर दोनों को अलग-थलग कर वहां से अपने-अपने घरों को वापिस भेज दिया।

मण्डल अध्यक्ष के अनुसार जब वह वहां से कार द्वारा लौट रहे थे तो सौरभ सनातनी ने अपने आधा दर्जन समर्थकों के साथ मण्डल-अध्यक्ष की कार को घेरकर पहले तो कार में तोड़फोड़ की इसके बाद अवैद्य हथियारों से फायरिंग कर दी जिससे मण्डल अध्यक्ष सहित अन्य समर्थक बाल-बाल बच गये। घटना की सूचना पुलिस को देने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। जहां मण्डल अध्यक्ष ने सौरभ सनातनी एवं अन्य विरूद्ध जानलेवा हमला कार की गाड़ी का शीशा तोड़ने आदि की तहरीर दी। मामले के तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने सौरभ सहित आधा दर्जन से अधिक अज्ञात के विरूद्ध आईपीसी की धारा 147, 148, 307, 336, 504, 506, 427 के अन्तगर्त रिपोर्ट दर्ज कर जांच पड़ताल में जुट गई। जिसमें आज सोमवार को सीओ मांट ने घटना स्थल मुआयना कर मौके पर मौजूद लोगों से पूछताछ कर ब्यान दर्ज किये हैं।

इस संबंध में मामले में नामजद सौरभ सनातनी ने ‘‘विषबाण’’ से बातचीत में कहा कि बैठक में मण्डल अध्यक्ष से कहासुनी हुई थी। फायरिंग एवं कार में तोड़-फोड़ करने का आरोप निराधार है।

सौरभ का कहना है कि वह पूर्व में बूथ अध्यक्ष के पद पर रहे हैं वर्तमान में वह संघ के आईटीसी उपखण्ड बाजना के प्रमुख पद की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। पुलिस अधिकारियों सहित पार्टी के वरिष्ट नेता एवं संघ के पदाधिकारियों को पूरे घटनाक्रम से अवगत करा दिया गया है। बाजना मण्डल के महामंत्री रामेश्वर शर्मा जिनके आवास पर झगड़ा होना बताया गया है ने ‘‘विषबाण’’ से बातचीत में कहा कि दोनों के बीच कहासुनी होने पर अलग-थलग कर दिया था। उनके आवास पर ना तो कोई तोड़-फोड़ हुई और ना ही फायरिंग की घटना हुई और ना ही अन्य किसी स्थान पर तोड़फोड़ – फायरिंग की जानकारी है। इस संबंध में बताया जा रहा है कि दोनों गुटों के वरिष्ट नेता अपने-अपपने समर्थकों के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। अब देखना होगा कि पुलिस अपनी जांच में किसे दोषी ओर किसको निर्दोश साबित करती है।