मीडिया गैंग का कारनामा: ठगी-चौथवसूली में फर्जी IRS सहित 5 गिरफ्तार, हथियार बरामद

0
661

इटावा। नीली बत्ती लगाकर फर्जी आईआरएस अधिकारी के साथ मिलकर ठगी एवं चौथवसूली करने वाले टीवी चैनल के दो पत्रकारों सहित गिरोह के 5 सदस्यों को अवैध हथियारों के साथ गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेजा है। अभियुक्तों के कब्जे से बड़ी संख्या में प्रेस की माइक, आईडी एवं कार्ड भी बरामद किये गये हैं।

इटावा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर को काफी दिनों से शिकायतें मिल रही थी। कुछ पत्रकार एक फर्जी आईआरएस अधिकारी के साथ इनोवा कार पर नीली बत्ती लगाकर नौकरी एवं जाँच के नाम पर ठगी एवं चैथवसूली की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। जिस पर एसएसपी ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए जाँच बिठाकर सिविल लाइन क्षेत्र में नीली बत्ती लगी इनोवा कार को रोक लिया। पुलिस द्वारा रोके जाने पर कार सवार युवकों ने पुलिस पर पहले तो रौब झाड़ने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने पाँचों युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो चौकाने वाला खुलासा हुआ। जिसमें दो साल पूर्व लोन हेराफेरी में सिंडिकेट बैंक से बर्खास्त हुए मनीश कुमार पुत्र राम प्रताप सिंह निवासी जिगसौरा थाना जसवन्तनगर इटावा अपने आप को IRS अधिकारी बनकर नौकरी एवं जांच के नाम पर अपने साथियों के साथ ठगी एवं चौथ वसूली की घटनाओं को अंजाम देता था।

पुलिस द्वारा पूछताछ में राम कुमार पुत्र छोटेलाल निवासी बीलमपुर थाना इक दिल इटावा ने अपने आप को एपीएन न्यूज चैनल तथा सौरभ चौहान पुत्र देवेन्द्र चौहान निवासी विकास काॅलौनी पक्का बाग थाना इकदिल इटावा ने हिन्दी खबर चैनल का पत्रकार बताया। जिनके कब्जे से दोनेां चैनलों की माइक आईडी एवं प्रेस कार्ड भी बरामद किये गये। इसके अलावा योगेश कुमार पुत्र सतीश कुमार निवासी कस्बा धानोटा थाना मण्डी धौनोटा जिला अमरोहा, बलवन्त कुमार खरवार पुत्र मदन खरवार निवासी तरैथा थाना भभुआ रामगढ़ बिहार को गिरफ्तार किया गया। गिरोह सदस्यों से नीली बत्ती लगी इनोवा कार कई चैनलों की आईडी, मौहर, प्रेस कार्ड, राइफल सहित अन्य अवैद्य हथियार बरामद किये गये हैं। पुलिस ने पांचों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। पुलिस ने पांचों आरोपियों को जेल भेज दिया है। गिरोह के सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद मीडिया गैंग के सदस्यों में हड़कम्प मचा हुआ है।