औरैया : कोरोना से बच गये लेकिन सड़क हादसे में मारे गये 24 मजदूर, 36 घायल

0
525

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में शनिवार तड़के सुबह डीसीएम और ट्रक की टक्कर में 24 मजदूरों की मौत हो गई। वहीं, 36 लोग घायल हो गए हैं जिन्हें इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया है।स हादसे के शिकार हुए ज्यादातर लोग बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के हैं। बताया जा रहा है कि डीसीएम दिल्ली से जबकि ट्रक राजस्थान से चला था। फिलहाल सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे को हादसे में जान गंवाने वाले मजदूरों के परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है।

लॉकडाउन के बीच मजदूरों पर एक और दुख का पहाड़ टूटा है। उत्तर प्रदेश के औरैया में हुए भीषण सड़क हादसे ने 24 मजदूरों की जिंदगी छीन ली। कहीं रेलवे ट्रैक पर मजदूर जान गंवा रहे हैं तो कहीं बस या ट्रक की टक्कर से एक पल में सब कुछ खत्म हो जा रहा है। मुजफ्फरनजर के बाद अब औरैया में हुआ हादसा इसी की गवाही दे रहा है। इस बीच पता चला है कि औरैया में 24 से ज्यादा मजदूरों की जान जा सकती थी अगर कुछ मजदूर एक कप चाय के लिए न रुके होते।

डीसीएम में सवार ज्यादातर मजदूर बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के हैं। मजदूर एक लंबा सफर तय करते हुए राजस्थान से आ रहे थे। पूरी रात डीसीएम में काटने के बाद सुबह होने वाली थी। लेकिन इसे मजदूरों की बदकिस्मती कहें या काल का कुचक्र, उन्हें सुबह का सूरज नहीं देखने को मिला। जिंदगी की अंगड़ाई, मौत की आहट को नहीं भांप सकी। काली रात ने चंद लमहों में सब कुछ तबाह कर दिया। चश्मदीदों के मुताबिक दिल दहला देने वाला हादसा उस वक्त हुआ जब कई मजदूर डीसीएम रोककर चाय पी रहे थे। बताया जा रहा है कि हादसे में मरने वाले मजदूरों की तादाद कहीं ज्यादा होती अगर वे चाय पीने के लिए उतरे न होते।

सुबह होने से पहले मजदूरों को चाय पीने की तलब लगी और शायद इस चाय ने ही उनकी जिंदगी-मौत के फासले का फैसला कर दिया। सड़क किनारे खड़े डीसीएम को ट्रक ने उस वक्त टक्कर मारी, जब कुछ मजदूर पास ही के एक ढाबे में चाय पी रहे थे। मरने वालों में से ज्यादातर मजदूर टक्कर मारने वाले ट्रक में सवार थे। इस ट्रक में चूने की बोरियां लदी हुई थीं। बताया जा रहा है कि कई मजदूर नींद में ही मौत के आगोश में समा गए। इस घटना के बाद सामने आई एक तस्वीर में मजदूरों के सामान के ढेर को भी देखा जा सकता है।

एनबीटी ऑनलाइन ने इस घटना के बारे में एसपी औरैया से बात की। उन्होंने बताया कि यह घटना तकरीबन सुबह 3 बजे से 4 बजे के बीच घटित हुई। कुछ घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि जिन लोगों की हालत गंभीर है उन्हें सैफई के लिए रिफर किया गया है।’ इस घटना के बाद डीएम औरैया अभिषेक सिंह ने कहा है कि हादसे का शिकार हुए ज्यादातर मजदूर बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औरैया के दुर्भाग्यपूर्ण हादसे पर संज्ञान लिया है। उन्होंने इस दुर्घटना में जान गंवाने वाले मजदूरों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना जताई है। इस बात की जानकारी अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने दी। मुख्यमंत्री योगी ने पीड़ितों को हर संभव राहत प्रदान करने के साथ-साथ सभी घायलों का उचित इलाज कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मंडलायुक्त कानपुर और आईजी कानपुर को तत्काल मौके पर पहुंचकर राहत कार्य अपनी देखरेख में संपन्न कराने और दुर्घटना के कारणों की जांच कराने के बाद रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

  • आखिलेश यादव ने औरैया हादसे में मारे गए मजदूरों के परिजनों को एक-एक लाख रुपए देने घोषणा की।
  • बसपा सुप्रीम मायावती ने सीएम योगी आदित्यनाथ से लापरवाही करने वाले अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।
  • समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि ऐसे हादसे मृत्यु नहीं हत्या है।