कोरोना लाॅकडाउन को लेकर पुलिस-ग्रामीणों में चले लाठी-डण्डे, फाड़ी वर्दी, 5 नामजद

0
1350
-फोटो सोशल मीडिया

मथुरा। कोरोना वायरस से निपटने के लिये लाॅक डाउन को लागू को लेकर ताश खेलते ग्रामीणों की पिटाई किये जाने पर ग्रामीणों और पुलिस में जमकर मार पीट हो गई ,जिसमे दरोगा सहित अन्य पुलिस कर्मियों की वर्दी भी तार-तार हो गई, पुलिस ने पांच नामजदों सहित एक दर्जन से अधिक ग्रामीणों के खिलाफ मामला दर्ज कर एक आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है। इस घटना को लेकर ग्रामीण क्षेत्र में तनाव बना हुआ है।

नौहझील थाना क्षेत्र के गांव मानागढ़ी पुलिस चैकी प्रभारी उदयवीर सिंह मावी सिपाही देवेन्द्र सिंह आदि के साथ गुरूवार को क्षेत्र में कोरोना लॉक डाउन को भ्रमण कर रहे थे कि तभी उन्हें सूचना मिली कि पैट्रोल पम्प मानागढ़ी के सामने एक दर्जन से अधिक ग्रामीण ताश खेल रहे हैं इस पर चौकी प्रभारी मौके पर पहुंच गये। बताते हैं कि मकान स्वामी फतेह सिंह चोधरी को पुलिस द्वारा हड़काने एवं डण्डे मारने पर उसके रिटायर फौजी पुत्र रमेश ने विरोध किया तो दोनेां के मध्य जमकर मारपीट हो गई।

घटना के प्रत्यक्ष दर्शियों के अनुसार पुलिस और ग्रामीणों के मध्य सड़क पर जमकर लाठी-डण्डे उठा-पटक का दौर चला बल्कि घटना की वीडियो बना रहे एक पुलिस कर्मी का डण्डे-लाठी मारकर मोबाइल भी चकना चूर कर दिया। बताते हैं कि इस दौरान चैकी प्रभारी सहित अन्य पुलिस कर्मियों की वर्दी भी तार-तार हो गई। ग्रामीणों के बढ़ती भीड़ को देखकर पुलिस घटना स्थल से भाग खड़ी हुई। घटना की सूचना पर अन्य पुलिस कर्मी देर रात मौके पर पहुंचे जिन्हें देखकर ग्रामीण भाग खड़े हुए जिनमें से महेश पुत्र कल्ली को हिरासत में ले लिया गया। घटना की रिपोर्ट रिटायर फौजी रमेश, राकेश पुत्र फतेह सिंह कालू,रणवीर सिंह सहित 5 नामजद एवं 5-6 अज्ञात के विरूद्ध थाना नौहझील में चौकी प्रभारी ने दर्ज कराई गई है। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बड़ी संख्या में ग्रामीण क्षेत्रीय नेताओं के साथ थाना नौहझील पहुंचे जहां महेश को छुड़ाने का प्रयास किया लेकिन समाचार लिखे जाने तक छोड़ा नहीं जा सका था।तथा पुलिस और ग्रामीणों के मध्य समझौते की वार्ता चल रही थी। जब कि ग्रामीणों में दहशत व्यपात थी।