कोरोना वायरस: सांसद-विधायकों ने दिये 2.70 करोड़, फिर भी नहीं मिलेंगे जनता को मास्क और सेनिटाइजर

0
983

मथुरा। कोरोना वायरस से पीड़ित जनता के लिये सांसदों-विधायकों द्वारा खोली गईं निधियों की थैली के मुंह पर लगी रोक को केन्द्र एवं प्रदेश सरकार ने भले हटा दिया हो, लेकिन इसका ना तो तत्काल लाभ जनता को मिलने वाला है और ना ही इस धनराशि को जनता के लिये मास्क, सैनेटाइजर पर ही खर्च किया जा सकता है। जबकि बसपा नेता एवं मांट विधायक द्वारा 5 लाख की निधि एवं एक माह का वेतन देने के साथ जहां नई पहल हुई है वहीं अब तक मथुरा से जुड़े 5 विधानसभा, 2 विधान परिषद सदस्य एवं सांसद सदस्य द्वारा करीब 2.70 करोड़ की निधि की घोषणा मथुरा के लिये की गई है।
पूरे विश्व में कोरोना वायरस की अफरा-तफरी के बीच जनता को मास्क, सैनेटाइजर, चिकित्सा आदि के लिये सांसद, विधायक, विधान परिषद सदस्यों द्वारा अपनी-अपनी निधि से धनराशि का ऐलान 23-24 मार्च को किया गया था। जिसमें जिला ग्राम्य विकास अभिकरण मथुरा के परियोजना निदेशक ने विधायक एवं विधान परिषद सदस्यों की निधि से राशि ारी करने से इंकार कर दिया गया। इसके बाद विधायकों की मांग पर यूपी सरकार द्वारा निधि का उपयोग कोविद-19 के प्रयोग में खर्च किये जाने का शासनदेश 26 मार्च को प्रमुख सचिव मनोज कुमार सिंह ने सभी जिलाधिकारी को विधायक निधि के संसोधन के साथ पत्र लिखकर कोविड-19 में नियमों के तहत विधायक निधि प्रयोग करने की अनुमति दे दी है।
प्रमुख सचिव द्वारा जारी पत्र में विधायक निधि का उपयोग स्वास्थ्य परीक्षण, स्क्रीनिंग, फेस मास्क, सैनेटाइजर खरीद के लिये सरकारी अस्पताल, राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय के लिये चिकित्सीय उपकरणों के खरीद पर व्यय कर सकते हैं। इस पत्र में सीधे जनता के उपयोग के लिये निधि की धनराशि खर्च करने का प्रावधान नहीं किया गया है। इसमें बसपा नेता एवं मांट क्षेत्र के विधायक श्याम सुन्दर शर्मा द्वारा 5 लाख की राशि विधायक निधि का पत्र मुख्य विकास अधिकारी तथा एक माह के वेतन का पत्र विधान सभा अध्यक्ष को लिखा गया है। इसके अलावा एक करोड़ की राशि मथुरा-वृन्दावन के विधायक एवं ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा, छाता के विधायक एवं कैबिनेट मंत्री चैधरी लक्ष्मी नारायण 5 लाख, बल्देव के विधायक पूरन प्रकाश 10 लाख, गोवर्धन विधायक ठा0 कारिन्दा सिंह 4 लाख, सपा के विधान परिषद सदस्य डा0 संजय लाठर 10 लाख विधान परिषद सदस्य उदयवीर सिंह द्वारा 20 लाख की राशि के पत्र मुख्य विकास अधिकारी को लिखे गये हैं। जबकि मथुरा की भाजपा सांसद एवं फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी द्वारा एक करोड़ की सांसद निधि देने का भी ऐलान तो कर दिया गया है लेकिन अभी जिलाधिकारी को पत्र जारी नहीं किया गया है। जिसमें अब तक करीब 2.70 करोड़ की राशि कोेविड-19 हेतु देने की घोषणा की गई है।
इस सम्बंध में सांसद प्रतिनिधि जनार्दन शर्मा ने ‘‘विषबाण’’ से बातचीत में कहा कि अभी सांसद निधि का पत्र जिलाधिकारी को नहीं लिखा गया है। जिला चिकित्सा अधिकारी मथुरा से उपकरण खरीद का स्टीमेट मांगा गया है। जहां से स्टीमेट प्राप्त होते ही सांसद निधि का पत्र जारी कर दिया जायेगा। सांसद-विधायकों द्वारा की गई घोषणा की निधि की राशि कब जारी होगी और उसका उपयोग कैसे होगा ये तो भविष्य के गर्भ में हैं। लेकिन जनता को तत्काल कोरोना वायरस (कोविड-19) में लाभ मिलता नजर नहीं आ रहा है। इसमें स्वास्थ्य कर्मचारियों एवं सरकारी अस्पतालों में जरूर लाभ मिलता दिखाई दे रहा है। लेकिन भविष्य में सांसद-विधायकों की निधि का लाभ जनता को जरूर मिल सकता है।