ट्रेन में मां-बेटी की हत्या कर लूट करने वाले 5 आरोपी गिरफ्तार, 1 फरार

0
770

मथुरा। वृंदावन रेलवे स्टेशन के समीप ट्रेन में लूट के दौरान मां-बेटी की हत्या करने वाले 5 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जीआरपी ने बुधवार को घटना का खुलासा कर दिया। गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों में एक महिला भी शामिल है। इस मामले में एक अभियुक्त फिलहाल फरार है। जीआरपी ने अभियुक्तों से 26,500 रुपए नगद, एक मोबाइल सहित जेवरात एवं कीमती सामान बरामद किया है।
पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर के मूल निवासी एवं दिल्ली स्थित शाहदरा के हाल निवासी मीना 3 अगस्त को हजरत निजामुद्दीन से चलकर केरल की ओर जाने वाली त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस से कोटा जा रही थीं। उनके साथ उनकी बेटी मनीषा और बेटा आकाश भी थे। वह कोच एस-2 में बर्थ नंबर 1, 3 एवं 4 पर रात्रि में सो रहे थे। इसी दौरान 3 अगस्त शनिवार की सुबह वृंदावन रोड स्टेशन के निकट कुछ बदमाशों ने मीना का नकदी से भरा हुआ बैग उठा लिया और भागने का प्रयास किया। इसी दौरान मीना और बेटी मनीषा की आंख खुल गई और उन्होंने बदमाशों से अपना बैग छुड़ाने की कोशिश की। इसी कोशिश के दौरान बदमाशों ने दोनों मां-बेटी को ट्रेन से नीचे धक्का दे दिया। इसके चलते मीना एवं मनीषा की मौत हो गई थी। यह समाचार मीडिया में प्रमुखता से छपा तो मथुरा से लेकर दिल्ली तक इसकी गूंज पहुंच गई। जीआरपी पर इस घटना का खुलासा करने का काफी दबाव था। जीआरपी ने इसके लिए अलग अलग टीमों का गठन करते हुए अपने मुखबिरों को भी सतर्क कर दिया था। जीआरपी को बुधवार को सूचना मिली कि ट्रेन कांड का मुख्य आरोपी प्रदीप सिंधी अपने कुछ साथियों के साथ कोसीकलां रेलवे स्टेशन पर मौजूद है। वह किसी घटना को फिर से अंजाम देने की कोशिश में है। जानकारी मिलते ही जीआरपी पुलिस बल वहां पहुंच गया और 4 अभियुक्तों को वहां से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में प्रदीप सिंधी ने बताया कि उनके साथ एक अन्य युवक पवन सैनी भी था। पवन सैनी के घर पर छापा मारा गया तो वहां पवन सैनी नहीं मिला। वहां मिली उसकी पत्नी देवकी को गिरफ्तार कर लिया क्योंकि उसके पास से मृतका मनीषा का वीवो कंपनी का मोबाइल बरामद हुआ। फोन में पवन एवं देवकी सेल्फी भी थीं। गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों के नाम एवं प्रदीप सिंधी पुत्र पुरषोत्तम दास निवासी सेक्टर 1 थाना मालवीय नगर जयपुर राजस्थान, राजू गोस्वामी पुत्र जीतपाल सिंह निवासी तिवारीजीपुरम् लक्ष्मीनगर थाना जमुनापार मथुरा, सुखवीर सिंह उर्फ चौटाला पुत्र स्व. हरदम गुर्जर निवासी बिलौठी थाना चिकसाना भरतपुरा राजस्थान, नंदकिशोर उर्फ संपाती पुत्र सरमन सिंह निवासी हरलाल पुरा थाना वासौनी आगरा एवं देवकी निवासी गिर्राज वाटिका रांची बांगर थाना रिफाइनरी मथुरा हैं। वहीं पवन सैनी पुत्र हंसराज निवासी कस्बा दौराला थाना दौराला मेरठ फरार है। पकड़े गए अभियुक्तों से 26,500 रुपए नगद, मृतक मनीषा का मोबाइल, 2 कड़े चांदी के, 2 पायल चांदी, एवं 2 सोने के टॉप्स और 2 लेडीज पर्स बरामद किए गए हैं।