ध्वस्त कानून व्यवस्था, किसान समस्याओं पर उग्र हुए किसान

0
228

मथुरा। जनपद में लचीली हो चुकी कानून व्यवस्था, पत्रकारों के साथ आए दिन हो रही उत्पीड़न की घटनाएं और किसानों की समस्याओं को लेकर भारतीय किसान यूनियन ने गत दिवस कलेक्ट्रेट का घेराव किया। यहां जिलाधिकारी के न मिलने पर एडीएम को अपनी समस्याओं के समाधान का ज्ञापन सौंपा। साथ ही शीघ्र ही समाधान न होने पर जनपद में बड़े स्तर पर आंदोलन करने की चेतावनी भी दी। एडीएम ने समस्याओं का जल्द ही समाधान करने का आश्वासन दिया।
भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष अनिल शर्मा के नेतृत्व में गत दिवस सैकड़ों किसान प्रशासनिक अधिकारियों को घेरने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंचे। यहां जिलाधिकारी नहीं मिले तो वह उनके कार्यालय के सामने ही धरना देकर बैठ गए और अधिकारी को बाहर ही बुलाने पर अड़ गए। किसानों की समस्याओं को सुनने के लिए एडीएम को कार्यालय के बाहर आना पड़ा। यहां पुलिस उपाधीक्षक को भी सुरक्षा व्यवस्था से जुड़ी समस्याओं का समाधान करने के लिए बुलाया गया। जिलाध्यक्ष अनिल शर्मा के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों से वार्ता की। अपनी समस्याओं से अवगत कराया। अनिल शर्मा ने बताया कि जिले में पत्रकारों के साथ आए दिन कोई न कोई घटना घटित हो रही है। पुलिस के भ्रष्टाचार का खुलासा करने पर पुलिस अधिकारियों द्वारा पत्रकारों का उत्पीड़न किया जा रहा है। इसके बाद भी उच्चाधिकारी कार्यवाही करने को तैयार नहीं है। कहा कि खेतों में आवारा जानवरों के घुसने की समस्या का समाधान नहीं हो सका है।

सिंचाई के लिए रजवाहा की सफाई नहीं कराई जा रही है। ताकि पानी खेतों तक पहुंच सके। नौहझील ब्लाक के पीछे स्थित तालाब में पास ही स्थित एक डेयरी का पानी उसमें जा रहा है इससे पानी काफी गंदा और बदबूदार हो चुका है। नाले नालियों की सफाई नहीं हुई है। विजय दशमी मेला स्थल पर ग्राम प्रधान पति द्वारा अतिक्रमण हो चुका है, उसे हटाया जाए। आदि समस्याओं का ज्ञापन एडीएम को सौंपा गया। एडीएम ने समस्याओं के शीघ्र समाधान का आश्वासन दिया गया। किसान नेताओं ने अधिकारियों को चेतावनी दी कि यदि शीघ्र ही समाधान नहीं किया गया तो किसानों द्वारा जनपद में बड़े स्तर पर आंदोलन किया जाएगा। इसकी जिम्मेदारी पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों की होगी। इस दौरान यादराम पाठक, संजय पाठक, मुकेश पाठक, अशोक भारद्वाज, मुकेश पाठक, राजेंद्र नंबरदार, हरीशंकर गुप्ता, छोटू पाठक, होरीलाल पाठक, रिंकल अग्रवाल, नाने पाठक सहित सैकड़ों किसान मौजूद रहे।