उपभोक्ता की याचिका खारिज, पुनः प्रस्तुत करना होगा क्लेम

0
186

मथुरा। उपभोक्ता द्वारा बाइक बीमा क्लेम के लिए अधूरी जानकारी देने पर बीमा कंपनी ने उसके क्लेम को देने से इंकार कर दिया। जिला उपभोक्ता फोरम में वाद दायर करने के बाद भी पीड़ित को राहत नहीं मिली। उपभोक्ता फोरम ने भी याचिका को खारिज करते हुए वादी को फिर से क्लेम का दावा प्रस्तुत करने और बीमा कंपनी को विधि संगत तरीके से मामले को निस्तारित करने के आदेश दिए हैं।


जनपद के कस्बा मगोर्रा के गांव रसूलपुर निवासी विवेक कुमार पुत्र विक्रम सिंह का घर जाते समय बाइक से एक्सीडेंट हो गया। इसमें उनके दाएं हाथ में काफी चोट आई और चारों उंगलियां पूरी तरह कुचल गईं। दुर्घटना के समय बाइक का बीमा पूरी तरह वैध था। पीड़ित ने बीमा कंपनी में बाइक के दुर्धटना ग्रस्त होने पर 3 लाख, काफी चोट लगने के चलते काम पर न जाने के कारण हुए नुकसान के रुप में 71 हजार, यात्रा व्यय के रुप में 50 हजार और शरीर को क्षति पहुंचने के 3 लाख रुपए का क्लेम किया। बीमा कंपनी ने अधूरी जानकारी का कारण बताते हुए क्लेम देने से इंकार कर दिया। इसके बाद विवेक कुमार ने जिला उपभोक्ता फोरम में क्लेम किया। जिला उपभोक्ता फोरम ने दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद बीमा कंपनी के पक्ष में निर्णय देते हुए वादी की याचिका खारिज कर दी। साथ ही आदेश दिया है कि वादी अपने क्लेम को फिर से बीमा कंपनी के समक्ष प्रस्तुत करे और बीमा कंपनी को भी निर्देश दिए हैं कि वह दावा मिलने के 2 माह के अंदर मामले का निस्तारण कर दे। वाद व्यय दोनों पक्षों को स्वयं भुगतना होगा।