यौन संबंध बनाने के लिए हाईकोर्ट ने दिया पैरोल, जाने क्यों दिया आदेश

0
217

हिसार। पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने हत्या के दोषी एक शख्स को यौन संबंध बनाने के लिए पैरोल दिया है। हिसार जेल में बंद इस कैदी पर हत्या का आरोप सिद्ध हुआ है। हाईकोर्ट ने हत्या के इस दोषी को चार हफ्तों का पैरोल देने का आदेश दिया है।
पैरोल पाने वाले शख्स का नाम अरुण है और वह हरियाणा के रोहतक का रहने वाला है। जून 20170 में झज्जर जिले के बहादुरगढ़ में हुए एक कत्ल के मामले में अरुण को अदालत दोषी ठहरा चुकी है। अरुण ने 14 जनवरी 2019 को हाईकोर्ट में अपनी अपील डाली थी। अरुण के वकीलों ने अदालत से गुहार लगाते हुए कहा था कि अरुण एक शादीशुदा शख्स है और अपने माता-पिता का इकलौता बेटा भी है। उसके पिता पूर्व आर्मी ऑफिसर हैं। उसने अपनी याचिका में बताया कि वह बीते 8 वर्षां से जेल में बंद है। जेल में होने के कारण शादी के बाद भी उसे अब तक संतान नहीं हुई है। इसके चलते उसकी पत्नी अकेलेपन और मानसिक तनाव में घिरी रहती है और उसका स्वास्थ्य खराब रहने लगा है। इसके अलावा इन कारणों से उसकी पत्नी को अन्य तरह की शारीरिक परेशानियां भी हैं। याचिकाकर्ता की तरफ से अदालत में गुहार लगाई गई कि संतान के लिए पत्नी से यौन संबंध बनाने के लिए उसकी पैरोल की अर्जी मंजूर कर ली जाए। याचिका कर्ता ने अपनी याचिका में साल 2015 के एक केस जसवीर सिंह और अन्य वर्सेज स्टेट ऑफ पंजाब और अन्य का उदाहरण भी दिया और कहा कि इस केस में संविधान की धारा 21 के तहत अदालत ने फैसला देते हुए जीने के अधिकार के तहत ऐसा करने की अनुमति दी थी। दलीलों के आधार पर हाईकोर्ट ने अरुण को चार हफ्तों का पैरोल देने का आदेश दिया है। इस आदेश से वह और उसके काफी खुश हैं।