कृषि स्नातकों को मिल रहा स्वरोजगार का मौका, 3 जून तक करें आवेदन

0
201

मथुरा। प्रशिक्षित कृषि उद्यमी स्वावलम्बन योजना के अन्तर्गत किसानों के हितलाभ के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कृषि में प्रशिक्षित युवाओं की सेवाओं का उपयोग करने हेतु एक कार्यक्रम संचालित किया जाएगा। इस कार्यक्रम का उद्देश्य किसानों को उनके फसल उत्पादों के लिए कृषि केन्द्र (एग्रीजंक्शन) के बैनर तले समस्त सुविधाएं ‘वन स्टाप शॉप‘ के माध्यम से उपलब्ध कराए जाने की योजना है।

उप कृषि निदेशक धुरेन्द्र कुमार ने बताया कि यह कृषि केन्द्र मृदा परीक्षण सुविधा तथा उर्वरक उपयोग हेतु संस्तुतियां, उच्च गुणवत्ता के बीज, उर्वरक, जैव, माइक्रोन्यट्रियंटस, वर्मी कम्पोस्ट, कीटनाशक तथा जैव कीटनाश्कों सहित समस्त कृषि निवेशों की आपूर्ति, लघु कृषि यंत्रों को किराए पर उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था, प्रसार सेवाओं तथा कृषि प्रक्षेत्र निर्देशन सेवाओं को एक छत के नीचे उपलब्ध कराए जाने की सुविधा प्रदान करेंगे। इसके अतिरिक्त कृषि केन्द्रों द्वारा कृषि उपकरणों की मरम्मत तथा अनुरक्षण पशु आहार, कृषि उत्पादों एवं प्रसंस्कृत कृषि उत्पादों का विक्रय, मौसम/विपणन व अन्य संबंधित सूचनाओं के लिए सूचना विज्ञान नियोजन की स्थापना करायी जायेगी। विकास खंड नौहझील में 1 इकाई तथा समस्त विकास खंडों में 2-2 इकाई जनपद में लक्ष्य कुल 19 इकाइयों की स्थापना की जायेगी। इसके लिए प्रदेश में निवास करने वाले कृषि स्नातक/कृषि व्यवसाय प्रबंधन, स्नातक जो कृषि एवं सहबद्ध विषयों यथा उद्यान, पशुपालन, वानिकी, दुग्ध, पशुचिकित्सा, मुर्गी पालन एवं अन्य ऐसी गतिविधियां जो किसी राज्य/केंद्रीय विश्वविद्यालय या किसी अन्य विश्वविद्यालय जो आईसीएआर/यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त हों, पात्र होंगे। आवेदक की आयु 40 वर्ष से अधिक न हो। अनुसूचित जाति, जनजाति, महिलाओं को 5 वर्ष की छूट दी जाएगी। आवेदक अपने आवेदन उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी के माध्यम से 3 जून तक उप कृषि निदेश्क कार्यालय में जमा कर दें।