फिर जारी हुआ परिषदीय विद्यालयों का संविलियन का आदेश

0
1288

मथुरा। बेसिक शिक्षा विभाग के प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के संविलियन का आदेश फिर से जारी हो गया है। पहले जारी हुआ संविलियन का आदेश जिलाधिकारी के हस्तक्षेप के बाद रोक दिया गया था। जनपद में मतदान के बाद बीएसए द्वारा संविलियन का आदेश दे दिया है।


शासन द्वारा बेसिक शिक्षा विभाग के प्राईमरी और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों को संविलियन करने आदेश दिया गया था। संविलयन उन विद्यालयों का होना था जो कि एक ही कैंपस में संचालित हो रहे थे। संविलयन वाले विद्यालय का चार्ज प्राईमरी और जूनियर हाईस्कूल में वरिष्ठतम शिक्षक को मिलना था। इस संबंध में मार्च माह में ही जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा जनपद के प्रत्येक ब्लॉक के संविलियन होने वाले विद्यालयां की सूची जारी करते हुए संविलियन करने का आदेश जारी कर दिया था लेकिन उस समय मथुरा में मतदान की तिथि नजदीक होने के चलते जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने इसमें हस्तक्षेप करते हुए आदेश को मतदान होने तक रोक दिया था। 18 अपै्रल को दूसरे चरण में मथुरा में मतदान होने के बाद अब जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी चंद्रशेखर ने एक बार फिर से परिषदीय विद्यालयों के संविलयन का आदेश जारी कर दिया है। इससे एक बार फिर परिषदीय शिक्षकों में खलबली मच गई है।

इस आदेश के चलते प्राईमरी स्कूलों के वह प्रधानाध्यापक सकते में हैं जिन्हें विद्यालय के मर्ज होने पर पूर्व माध्यमिक विद्यालय के हेडमास्टर के अधीनस्थ काम करना होगा। यही कारण है कि काफी शिक्षक दबी जुबां में इस आदेश के विरोध में हैं लेकिन शासन से आदेश होने के कारण वह इसका खुलकर विरोध कर पाने की स्थिति में नहीं हैं। बीएसए चंद्रशेखर ने बताया कि पहले मथुरा में मतदान होने के कारण आदेश को टाल दिया गया था। अब मथुरा में मतदान हो चुका है तो इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जा रहा है। संविलियन होने वाले विद्यालयों की सूची जारी की जा चुकी है। शीघ्र ही सूची में शामिल विद्यालयों को मर्ज करने की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।