बिजली न होने पर भी जारी कर दिया विद्युत बिल, निरस्त

0
236

मथुरा। विद्युत विभाग ने एक ग्रामीण के घर पर बिना मीटर लगाए और बिना बिजली दिए ही डिमांड नोटिस और विद्युत बिल जारी कर दिया। जबकि ग्रामीण ने पहले से ही मीटर लगाने के लिए आवेदन दे रखा था। पीड़ित ने परेशान होकर जिला उपभोक्ता फोरम में वाद दायर कर दिया। फोरम ने पीड़ित के पक्ष में निर्देश देते हुए डिमांड नोटिस व बिजली बिल निरस्त करने के साथ ही मानसिक क्षति और वाद व्यय देने के भी आदेश दिए हैं।


गांव बाटी निवासी अमर सिंह पुत्र बीरबल ने वर्ष 2006 में एक किलोवाट के घरेलू विद्युत कनेक्शन हेतु आवेदन किया था। इसकी स्टीमेट की राशि 730 रुपए भी जमा किए गए लेकिन न तो विद्युत लाइन जोड़ी गई और न ही विद्युत मीटर लगाया गया। कई बार प्रत्यावेदन देने के बाद भी विभाग ने कोई संज्ञान नहीं लिया और न ही विद्युत मीटर लगाया। जबकि विद्युत विभाग ने अमर सिंह के नाम पर डिमांड नोटिस जारी करते हुए विद्युत बिल भी निर्गत कर दिया। काफी प्रयास करने के बाद भी जब विभाग ने उसकी शिकायतों का संज्ञान नहीं लिया तो जिला उपभोक्ता फोरम में शिकायत की। उपभोक्ता फोरम ने दोनों पक्षों की सुनवाई करते हुए पीड़ित अमर सिंह के पक्ष में निर्णय दिया। फोरम ने डिमांड नोटिस और निर्गत किए गए विद्युत बिल निरस्त करने, मानसिक क्षति के रुप 5 हजार रुपए और वाद व्यय के रुप में 3 हजार रुपए 45 दिन के अंदर भुगतान करने के आदेश दिए हैं। साथ ही 45 दिन के अंदर विद्युत लाइन उर्जीकृत किए जाने के आदेश दिए हैं।