दिव्यांगता कोई श्राप नहीं -कमलाकांत पांडे

0
126

वृन्दावन। महर्षि दयानंद पुनर्वास संस्थान राल, भारतीय पुनर्वास परिषद, नई दिल्ली, राष्ट्रीय बहु विकलांग व्यक्ति अधिकारिता संस्थान, चेन्नई और सामुदायिक पुनर्वास केंद्र गोरखपुर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सेमिनार के समापन के अवसर पर वृंदावन शोध संस्थान, वृंदावन में देश-विदेश के सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। इस सेमिनार का विषय था -“भारतीय संस्कृति एवं समाज को दिव्यांग जनों का योगदान। “यह सेमिनार दिव्यांग जनों, शिक्षाविदों, दिव्यांगजनों के माता-पिता, नीति निर्माताओं दिव्यांगता के क्षेत्र में कार्य करने वाली समाजसेवी संस्थाओं सभी के लिए आयोजित की गई है। इस सेमीनार में जर्मनी, कोलम्बिया, स्विटरलैण्ड, रूस, अमेरिका, इंग्लैण्ड आदि विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

अन्तर्राष्ट्रीय सेमीनार के द्वितीय दिवस का उदघाटन आभा द्विवेदी, विपिन गौड, मुरारी लाल जादौन पंकज स्पॉस्टिक वृन्दावन, गोपाल कृष्ण अग्रवाल राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राष्ट्रीय दृष्टि संगठन मुम्बई इण्डिया, प्रेम कुमार एन0आई0ई0पी0आई0डी0 कोलकाता ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कमलाकांत पांडे राष्ट्रीय महामंत्री सक्षम प्रयागराज ने भारतीय संस्कृति पर प्रकाश डालते हुए कहा कि दिव्यांग होना कोई श्राप नहीं है, दिव्यांग क्या नहीं कर सकते केवल अपने मन में ये निश्चय करलें कि हमें जो कार्य करना है उसको करके ही रहेंगे।

आज के कार्यक्रम की अध्यक्षता राजेश कुमार त्रिवेदी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय भारत सरकार ने की।
इस अन्तर्राष्ट्रीय संगोष्ठी के अवसर पर अंजलि ने डांस की प्रस्तुति देते हुए इस सेमीनार में आये हुए सभी समाजसेवी, विशेष शिक्षक एवं देश विदेश से आये गणमान्य व्यक्तियों का मन मोह लिया तथा उनको इस प्रस्तुति पर तालियाँ बजाने के लिए विवश कर दिया।

इस अवसर पर विशेष शिक्षकों दिनेश कुमार शकुन्तला मिश्रा यूनिवर्सिटी लखनऊ, जसवीर सिंह एन0आई0ई0पी0वी0डी0 देहरादून, डॉ0 देवानन्द पाण्डे आर0वी0एम0 कैम्पस बालगढ सोनीपत, परगट सिंह रेड क्रॉस हिंदू संस्थान सोनीपत, प्रियंका सिंह ए0आई0आर0एस0आर0 रोहिणी दिल्ली, कमलाकान्त पाण्डे सक्षम प्रयागराज, रमेश पाण्डे निदेशक सी0आर0सी0 गोरखपुर, राजेश कुमार त्रिवेदी काउन्सलर डी0ई0पी0डब्ल्यू0डी0, डॉ0 आलोक भुवन मनोविकास दिल्ली, परवीना नागिल मनोविकास कॉलेज उज्जैन, योगिता मनोविकास कॉलेज उज्जैन अपने — अपने विचार व्यक्त किये।
कार्यक्रम का संचालन सुषमा चौधरी ने एवं धन्यवाद ज्ञापन आयोजक सचिव डॉ0 धनंजय कुमार तिवारी ने किया।
इस अवसर पर दीपक गोस्वामी, यादमन्दन बंसल, मानवीर सिंह , रीपक कुमार एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट नई दिल्ली, नीतू यादव, हेमलता कन्नौजिया, सोनिया, मोनी गुप्ता, अखिलेश मिश्रा, नीतू शर्मा संगीता, ज्योति, उमा रानी खण्डेलवाल, अनुप्रिया वालिया, संगीता वर्मा, वीना कुमारी, पूनम गुप्ता, अम्बिका लवानियां, तरूण शर्मा, पूनम कुमारी, रविन्द्र त्रिपाठी, कमल, अजय पाल सिंह, मेसराम शर्मा, कृष्णादेवी, मोनू शर्मा आदि विशेष रूप से उपस्थिति रहे।