रामलीला में उपद्रव : कई घायल, 3 गिरफ्तार, भाजपा नेता सहित 13 नामजद

0
2811

मथुरा। कस्बा नौहझील में आयोजित रामलीला महोत्सव एवं रामलीला के दौरान लड़की छेड़छाड़ को लेकर दो गुटों के मध्य हुई जमकर मारपीट से जहां रामलीला में भगदड़ मच गई वहीं आधा दर्जन करीब युवक घायल हो गये। मौके पर पहुंचे वरिष्ट अधिकारियों एवं पुलिस ने जैसे-तैसे हालात पर काबू पाया। तनाव को देखते पीएससी तैनात कर पुलिस अधिकारी मौके पर जमे हुए थे। घटना में भाजपा नेता 13 लोगों के नामजद एवं 15-16 अज्ञात के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कराकर तीन उपद्रवियों को गिरफ्तार कर दिया गया है।


गत वर्षों की भांति कस्बा नौहझील में रामलीला महोत्सव के अन्तगर्त शनिवार की रात को 10 बजे बैण्ड बाजों के साथ राम बरात का नगर भ्रमण हो रहा था कि डीजे पर नाचने के दौरान दो गुटों के मध्य एक लड़की को लेकर तना-तनी हो गई। मौके पर जैसे-तैसे दोनों पक्षों को अलग-थलग कर मामला शान्त करा दिया गया। इसके बाद रामलीला कमैटी द्वारा दो जोड़ाओं की रस्में चामड़ चौराहा पर आयोजित की जा रही थी। वहीं दूसरी राम बरात 3 मीटर दूर थी जहां पूरा पुलिस बल मौजूद था। इसी दौरान चामड़ चौराहा पर दोनों युवकों के गुट फिर आमने-सामने आ गये और लाठी-डण्डों, कुर्सियों से एक दूसरे पर ताबड़तोड़ हमला शुरू हो गया। कार्यक्रम में उपद्रव होते ही भगदड़ मच गई और हर तरफ पकड़ो-मारो की चीख-पुकार मच गई और लोग इधर-उधर भागने लगे।

बताते हैं कि मौके से भागे कुछ उपद्रवी तत्वों को ग्रामीणों ने भागते हुए पकड़ लिया तब तक पुलिस मौके पर आ गई। उपद्रव की सूचना जिला मुख्यालय पर दिये जाने के बाद वरिष्ट पुलिस अधीक्षक शलभ माथुर सहित अन्य वरिष्ट अधिकारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुचे और स्थिति को काबू में किया। बाद में विवाह कार्यक्रम एवं राम बरात का औपचारिक रूप से समापन कर कस्बे में पीएससी एवं पुलिस बल तैनात किया गया। इस मामले में कस्बा इन्चार्ज राजवीर सिंह ने कस्बा निवासी भाजपा नेता मनीष जिन्दल पुत्र कैलाश चन्द, रामलीला कमेटी के अध्यक्ष अशोक भारद्वाज, उपाध्यक्ष महेश शर्मा आंसू पुत्र योगेन्द्र, आसू पुत्र प्रेमचन्द, मयंक अग्रवाल पुत्र पिन्टू, श्याम पुत्र नानिक चन्द, प्रवीण कटारा, योगेश पुत्र पप्पू, कन्हैया पुत्र हजारी लाल, नरेश शर्मा, सभी निवासी कस्बा नौहझील शुशील एवं अमित शर्मा निवासी बरौठ के विरूद्ध कस्ब इंचार्ज राजवीर सिंह राम बरात के दौरान उपद्रव करने, सरकारी कार्य में बाधा सहित 147, 148, 352, 325, 353, 506, 7 क्रिमनल लॉ के अन्तर्गत नामजद करते हुए 15-16 अज्ञात लोगों के खिलाफ थाना नौहझील में मामला दर्ज कराकर नरेश शर्मा नौहझील, शुशील, अमित को गिरफ्तार कर लिया गया।

कस्बे में तनाव को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस पीएएसी बल तैनात कर दिया गया है। दूसरी तरफ उपद्रव मामले में रामलीला कमेटी के अध्यक्ष असोक भारद्वाज, उपाध्यक्ष महेश शर्मा एवं सूचना मंत्री हजारी लाल गुप्ता के पुत्र कन्हैयालाल गुप्ता को नामजद किये जाने के बाद असन्तोष का माहौल बना हुआ है।

रामलीला कमेटी के अध्यक्ष असोक भारद्वाज ने ‘‘विषबाण’’ से बातचीत में कहा कि उपद्रव से कमैटी पदाधिकारियों का कोई लेना-देना नहीं है। रामलीला समिति ने कई बार मामले को शान्त कराया, इसके बाबजूद भी कमैटी के पदाधिकारियों को पुलिस ने झूठा फंसाकर अशान्ति फैलाने की कोशिश कर रही है।

श्री भारद्वाज ने बताया कि उनके नामजद कराये जाने की जानकारी पर रामलीला कमैटी का प्रतिनिधि मण्डल सीओ मांट अंकुर अग्रवाल से मिला तो उन्होंने कहा कि कमेटी का कोई पदाधिकारी नामजद नहीं है वह रामलीला करें। श्री भारद्वाज ने कहा कि अगर प्रशासन ने निर्दोष लोगों का उत्पीड़न किया तो वह रामलीला का मंचन ठप्प करने पर मजबूर होंगे। दूसरी तरफ कस्बे में 13 लोगों की नामजदगी एवं 15-16 अज्ञातों के विरूद्ध मामला दर्ज होने के बाद कस्बे में बड़ी संख्या में युवा पलायन कर गये हैं। रामलीला मैदान सहित अन्य प्रमुख स्थानों पर पीएससी एवं पुलिस बल तैनात हैं वरिष्ट अधिकारी लगेतार निगरानी में रखे हुए हैं।