‘‘किसानों का सम्मान’’, भाजपा नेताओं का अपमान, जिलाध्यक्ष मंच छोड़ भागे

0
2106

मथुरा/बाजना। “बड़े बे-आबरू होकर हम तेरे कूचें से निकले” कि ये पक्तियां एक बार फिर भाजपा में सटीक साबित हुई जहां नारा तो ‘‘सबका मान – सबका सम्मान’’ का दिया जा रहा है। लेकिन गुटबन्दी के चलते किसान सम्मान समारोह में मण्डल अध्यक्ष को धक्का-मुक्की कर रोके जाने से आहत हो कर भाजपा जिलाध्यक्ष को कार्यक्रम को बीच में ही छोड़कर जाने पर मजबूर होना पड़ा। पार्टी नेताओं ने इसकी शिकायत हाई कमान से की है।

सरकार और भाजपा में ‘‘सबका मान – सबका सम्मान’’ का नारा भले ही जोर-शोर से लगाया जा रहा हो लेकिन भाजपा नेता अपनी ही पार्टी के प्रतिद्वंद्वी को सम्मान देने को तैयार नजर नहीं आ रहे हैं। इसका नजारा एक बार फिर रविवार को कस्बा बाजना के ब्लाक प्रमुख सुमन राजेश चौधरी एवं वरिष्ठ भाजपा नेता राजेश चौधरी द्वारा आयोजित ‘‘किसान सम्मान समारोह’’ में उस समय सामने आया जब भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह एवं केन्द्रीय डॉ. संजीव बलियान सहित वरिष्ठ भाजपा नेताओं की उपस्थित में जब मंच संचालक मुकेश कुमार वार्ष्णेय ने जब क्षेत्र के सभी मण्डल अध्यक्षों को मंच पर बुलाया गया। जिसमें नौहझील मण्डल अध्यक्ष हरीश चौधरी को कार्यक्रम संयोजक राजेश चौधरी के भाई द्वारा धक्का-मुक्की करते हुए मंच पर चढ़ने से रोक दिया गया।

मण्डल अध्यक्ष के साथ्ज्ञ अभद्रता की जानकारी जब भाजपा जिलाध्यक्ष नागेन्द्र सिकरवार को हुई तो वह कार्यक्रम से उठकर मण्डल अध्यक्ष सहित अन्य कार्यकर्ताओं के साथ मथुरा लौट गये। इस सम्बन्ध में मण्डल अध्यक्ष हरीश चौधरी ने ‘‘विषबाण’’ से बातचीत में अपने साथ हुई अभद्रता की बात स्वीकारते हुए कहा कि उन्हें कई बार मंच संचालक द्वारा नाम लेकर मंच पर बुलाया गया था जिसके कारण वह मंच पर गये थे लेकिन भाजपा नेता राजेश चौधरी के भाई ने उनके साथ अभद्रता करते हुए मंच पर जाने से रोक दिया गया। सिजके कारण भाजपा जिलाध्यक्ष नागेन्द्र सिकरवार को कार्यक्रम बीच में छोड़कर जाने पर मजबूर होना पड़ा। मण्डल अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि कार्यक्रम में 17 लाख से अधिक की सरकारी राशि खर्च किये जाने के बाबजूद भी कार्यकर्ताओं से कार्यक्रम के लिये मोटी रकम वसूली गई और सरकारी तथा पार्टी के कार्यक्रम को व्यक्तिगत बना दिया गया उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में हुई अभद्रता की शिकायत पार्टी हाईकमान से कर दी गई है।

एक तरफ मंच संचालक द्वारा मांट क्षेत्र के सभी मण्डल अध्यक्षों की मंच पर उपस्थित होना बताया गया वहीं दूसरी तरफ सुरीर मण्डल अध्यक्ष दिनेश आचार्य ने बताया कि पार्टी निर्देशानुसार बूथ अध्यक्ष गठन की व्यस्तता के कारण कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सके थे।

इसी तरह कार्यक्रम में आमंत्रित किये गये ऊर्जामंत्री श्रीकान्त शर्मा, मथुरा सांसद हेमा मालिनी ने किनारा करते हुए कार्यक्रम में उपस्थित नही हुऐ हैं। जबकि अलीगढ़ के सांसद सीतश गौतम, अनूप शहर के विधायक संजय कुमार, खैर (अलीगढ़) के सांसद सतीश गौतम, अनूप बाल्मीक, अलीगढ़ की पूर्व मेयर शकुन्तला भारती, गोवर्धन विधायक ठा. करिन्दा सिंह मथुरा महानगर अध्यक्ष चेतन स्वरूप पाराशर, व्यापारी कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष रविकान्त गर्ग, पूर्व चेयरमैन रविन्द्र पाण्डेय, वरिष्ट नेता बांके बिहारी माहेश्वरी, मुकेश वार्ष्णेय तो उपस्थित रहे लेकिन क्षेत्रीय वरिष्ट नेता एस.के. शर्मा सहित उनके समर्थक कार्यक्रम से दूरी बनाये रहे। बताते हैं कि किसान सममान समारोह में 10 हजार किसानों को अनार, अमरूद, कटहल, नींबू आदि के 5-5 पौधे वितरण का दावा किया गया।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह एवं केन्द्रीय मंत्री डॉ. संजीव बलियान द्वारा मोदी-योगी सरकारों द्वारा किसानों के हितों के लिये चलायी जा रही है योजनाओं का उल्लेख करते हुए पूर्व विपक्षी सरकारों पर जमकर हमला बोला। इस अवसर पर सभी वरिष्ठ नेताओं का मल्यार्पण कर स्वागत किया गया बल्कि उनके वजन के बराबर थैलियां भी भैंट की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता एवं संचालन मुकेश वार्ष्णेय द्वारा किया गया।