151 शिक्षकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं संस्थाओं को कल मिलेगा सम्मान

0
299

मथुरा। ब्रज की सामाजिक , साहित्यिक, सांस्कृतिक और नवाचारी सह शिक्षा अनुसंधान ,मानवीय मूल्यों पर कार्यरत संस्था आदर्श युवा समिति की विशेष कार्य परियोजना’ आदर्श संस्कार शाला’ द्वारा 1 सितम्बर को मथुरा शहर के आरसीए गर्ल्स डिग्री कॉलेज सभागार में 17 राज्यों के नवाचारी, शिक्षाविद, गुरुओं, राष्ट्र हित चिंतकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और सामाजिक संस्थाओं का सम्मान किया जाएगा।
संस्था के मीडिया प्रभारी जगदीश समंदर के अनुसार ’आदर्श संस्कार शाला’ विगत 4 वर्षों से नवाचार आधारित शैक्षिक विकास गतिविधियों में कार्यरत शिक्षाविद, शिक्षकों का सम्मान कार्यक्रम आयोजित करती रही है। इस वर्ष यह आयोजन राष्ट्रीय स्तर पर किया जा रहा है। संस्था द्वारा अप्रैल 2019 में देश भर से आवेदन आमंत्रित किये गए थे। जिसमें देश भर से 2078 आवेदन प्राप्त हुए। इसमें विशेष चयन प्रकिया के चलते तीन स्तरीय समितियों द्वारा 151 शिक्षक, सामाजिक कार्यकर्ता, समाजसेवी संस्थाओं का चयन किया गया है।
संस्था द्वारा आयोजित कार्यकम में एक दिवसीय सेमिनार विषय ’विकास में नवचार की विशेष भूमिका’ पर आमंत्रित सभी विद्वान अपने अनुभव और विचारों का प्रस्तुतिकरण करेंगे। कार्यक्रम में राजेंद्रा फाउंडेशन के सहयोग से सड़क दुघर्टना से होने वाली जनहानि को रोकने और खासकर सड़क दुर्घटनाओं में घायलों को सही समय पर उपचार मुहैया कराने की राष्ट्रीय जनजागरूकता को विशेष नवाचारी शिक्षकों, सामाजिक कार्यकर्ताओं के माध्यम से कराने के उद्देश्य से एक विशेष कार्य सत्र आयोजित किया जाएगा। जिसका उद्देश्य देश में सड़क दुर्घटनाओं से होने वाली जन हानि को कम करना और शिक्षा के मानवीयता पक्ष को समाज और राष्ट्र हित से जोड़ना है।
संस्था के संस्थापक राजेंद्र प्रसाद गोस्वामी के अनुसार संस्था द्वारा आयोजित किये जाने वाले एक दिवसीय सेमिनार और आदर्श शिक्षकों की पावन स्मृति में आयोजित सम्मान ’आदर्श शिक्षा रत्न’ सम्मान में देश के 17 राज्यों उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, उड़ीसा, राजस्थान, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, गुजरात, कर्नाटक, झारखंड, पश्चिम बंगाल,केरल, महाराष्ट्र आदि से आदर्श शिक्षाविद, गुरु, सामाजिक कार्यकर्ता और स्वयंसेवी संगठनों के मुखिया कार्यक्रम की शोभा बढ़ाएंगे।
कार्यक्रम में देश के अधिकतम गिनीज बुक विश्व रिकार्ड होल्डर डॉ. हिम्मत भारद्वाज, 12 वर्ष की आयु में 150 पुस्तकों के लेखक गिनीज बुक रिकार्ड होल्डर मृगांक पांडे, विश्व पुरस्कार सम्मानित शून्य बजट में विद्यालय को मैथ पार्क बनाने बाल नवाचारी शिक्षक किरनदीप, राष्ट्रीय पुरस्कार सम्मानित नवाचारी शिक्षिका कबाड़ से विद्यालय को साइंस हब बनाने वाली शिक्षिका रपविंदर कौर, कठिनतम गणित और विज्ञान विषय को कविता और सूत्रों से चुटकी में याद कराने वाले डॉ. दसरथ मसानिया, बच्चों से साथ मिलकर नवाचार आधारित वायु प्रदूषण शोधन पद्दतियों की खोज करने वाले मनोज यादव, मात्र तीन घंटे के प्रशिक्षण में हस्तलिपि सुधार कर सुंदर हस्तलिपि बनाने का ज्ञान देने वाले ओपी सिवाच, लगातार 90 घंटे तक अपनी बात को दर्शकों के बताए विषय पर अंग्रेजी और फ्रेंच विषय मे धाराप्रवाह कहने वाली 13 वर्षीय चैतन्या पांडे। आदि अति विशिष्ट प्रतिभाएं कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगी और इन्हें सम्मानित किया जाएगा।
कार्यक्रम में विशेष रूप से विशेष कार्य दक्ष शिक्षकों के संगठन नवोदय क्रांति परिवार के संस्थापक संदीप दिहल्लन, देश के बड़े साहित्यकार, लेखक, सामाजिक कार्यकर्ता और नवाचारी सह शिक्षा तरीकों के जनक डॉ. कुमार अरुणोदय, बाल अधिकार कानून विशेषज्ञ और चर्चित बाल अधिकार कार्यकर्ता समाजसेवी विभांशु दिव्याल, बाल मनोविज्ञान के प्रसिद्ध विशेषज्ञ डॉ. ज्ञान माथुर, रंगकर्म और संगीत के माध्यम से नकारात्मक सोच के बाल अपराध प्रभावित बच्चों के जीवन को सकारात्मक पथ दिखाने वाले मनोज राठोर आदि विभिन्न विषय विशेषज्ञों द्वारा अपना ज्ञान साझा किया जायेगा।
कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राज्य बाल अधिकार आयोग के अध्यक्ष विशेष गुप्ता होंगे। कार्यकम की अध्यक्षता सत्यमेव जयते के वरिष्ठ समाजसेवी एवं उद्योगपति अशोक गर्ग करेंगे। कार्यक्रम में प्रदान किये जाने वाला सम्मान आदर्श शिक्षा रत्न परम सम्मानित आदर्श शिक्षाविद स्व. कृष्ण लाल गोस्वामी,स्व. राम कटोरी गोस्वामी, स्व. ज्वाला प्रसाद शर्मा, स्व. बालमुकुंद उपाध्याय, स्व. मधु पराशर, कामरेड विजयलक्ष्मी की पावन स्मृति में प्रदान किया जाएगा। कार्यकम संयोजक जनपद के वरिष्ठ शिक्षाविद् कुलदीप लवानिया और सह संयोजक वरिष्ठ अधिवक्ता सुप्रीम कोर्ट एवं समाजसेवी विकास पराशर होंगे।