श्रीकृष्ण जन्मोत्सवः मथुरा नगरी बनी दुल्हन, आकर्षक सजावट बनी सेल्फी प्वाइंट

0
238

मथुरा। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी को प्रदेश सरकार द्वारा इस बार काफी भव्य एवं आकर्षक रुप में मनाया जा रहा है। इसके लिए कई दिनों पहले ही कार्यक्रमों का खाका तैयार कर लिया गया था। इसके तहत ही मथुरा को दुल्हन की तरह सजाया गया है। चैराहों एवं तिराहांे पर नयनाभिराम सजावट की गई है। अपने कन्हाई के जन्म के साक्षी बनने के लिए देश विदेश के हजारों-लाखों श्रद्धालु मथुरा आ चुके हैं। शहर में सजाए गए मंचों पर शुक्रवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए। सजे हुए चैराहों पर युवा सेल्फी लेकर यादों मंे संजोने का प्रयास कर रहे हैं। यह देखकर सरकार द्वारा किया गया प्रयास सफल होता नजर आ रहा है।


श्रीकृष्ण जन्मोत्सव को लेकर मथुरा को दुल्हन की तरह सजा दिया गया है। शहर के चैराहे-तिराहा गुब्बारों, पंतग, छतरियांे, पोस्टर्स, तस्वीर एवं विद्युत झालरों से सजाया गया है। लोग चैराहों पर खड़े होकर पहली बार इस तरह के आयोजन का गवाह बनने के लिए सेल्फी लेकर इस पल को संजो कर रखना चाहते दिख रहे हैं। अधिकतर चैराहों के आसपास स्क्रीन बोर्ड लगी गाड़ियां खड़ी हैं। इन गाड़ियों पर लगी स्क्रीन पर श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के कार्यक्रम प्रसारित हो रहे हैं। अधिकारियों के संदेश प्रसारित किए जा रहे हैं। श्रद्धालुओं को आकर्षित करने के लिए शहर भर में सजाए गए मंचों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन शुक्रवार को किया गया। यह कार्यक्रम 24 और 25 अगस्त को भी होंगे। इन मंचों के माध्यम से दर्शकों को श्रीकृष्ण लीलाओं और मथुरा की संस्कृति से परिचित कराया जा रहा है। रामलीला मैदान पर 24 अगस्त शनिवार को होने वाले मुख्य कार्यक्रम के लिए भी तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। शहर के विभिन्न कालेजों की छात्राओं द्वारा रंगोली बनाई जा रही है। तो विद्यार्थियों द्वारा राधाकृष्ण के स्वरुप भी सजाए गए हैं। यह भक्तों के आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। इस कार्यक्रम में प्रतिभाग करने के लिए स्वयं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उपस्थित रहेंगे। इस दौरान दही हांडी उत्सव का भी आयोजन किया जाएगा। इसके लिए मुंबई की टोली को आमंत्रित किया गया है।

भंडारों का टोटा, भूखे रहेंगे श्रद्धालु
सरकारी नियमों का बैरियर इस बार समाजसेवी संस्थाओं और व्यापारी वर्ग पर भारी पड़ता दिखाई दे रहा है। शहर में इस बार काफी कम संख्या में भंडारे लगे हैं। जबकि गत वर्षाें में जगह-जगह भंडारे दिखाई देते थे। जो कि इस बार नहीं दिखाई दे रहे हैं। बता दें कि हाल ही में प्रशासन ने भूतेश्वर से लेकर मसानी तिराहा तक भंडारा आयोजन की अनुमति प्रदान नहीं की थी। साथ ही भंडारा शुल्क भी बढ़ाकर दोगुना करते हुए 5100 रुपए कर दिया था। हालांकि विरोध के बाद इन शर्तों को वापस ले लिया गया लेकिन अन्य नियम भी इतने जटिल कर दिए हैं कि लोगों ने भंडारा आयोजित न करना ही मुनासिब समझा।

रेल-बसों में नहीं पांव रखने को जगह
मथुरा की ओर आने वाली और मथुरा से अन्य शहरों को जाने वाली रेलगाड़ियों और बसों में पांव रखने को जगह नहीं मिल रही है। रेलवे स्टेशन और बस स्टेंड पर लोगों की काफी भीड़ है। बस और रेल के आते ही उसमें सीट पर बैठने के लिए लोगों को काफी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। इस कोशिश में महिलाओं और बच्चों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

जंक्शन-छावनी स्टेशन पर श्रद्धालुओं का रेला
मथुरा रेलवे जंक्शन और मथुरा छावनी स्टेशन पर श्रद्धालुओं का रेला दिखाई दे रहा है। मथुरा में काफी संख्या में श्रद्धालु कई दिन पूर्व ही आ चुके हैं। यह श्रद्धालु दिन में शहर के मंदिरों के दर्शन कर रहे हैं। शाम होते ही स्टेशन के आसपास ही ईंटों के चूल्हे पर अपना खाना बना रहे हैं और स्टेशन पर ही अपनी नींद पूरी कर रहे हैं। इनमें सिर्फ उत्तर प्रदेश के ही नहीं वरन् विभिन्न प्रांतों के भक्तगण भी शामिल हैं। साथ ही काफी श्रद्धालु दर्शन आदि कर वापस घर को भी लौट लिए हैं। कई नाॅनस्टाप रेलगाड़ियों का मथुरा स्टेशन पर स्टाॅपेज दिया गया है।

शहर में वाहनों का प्रवेश रोकने को लगे बैरियर
शहर में बाहरी वाहनों को अंदर प्रवेश करने से रोकने के लिए विभिन्न एंट्री प्वाइंट्स पर बैरियर लगाकर बेरीकेडिंग कर दी गई है। इन बैरियर पर सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गई है। ताकि बाहरी श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की अव्यवस्था का सामना न करना पड़े। बाहरी वाहनांे के लिए पार्किंग आदि की भी व्यवस्था की गई है। ताकि श्रद्धालुओं को वाहन खड़ा करने में परेशानी न हो।

शहर में लगा जाम
श्रीकृष्ण जन्मोत्सव का गवाह बनने के लिए हजारों श्रद्धालु मथुरा आ चुके हैं। साथ ही शहर में विभिन्न स्थानों पर बेरीकेडिंग भी की गई है। इसके चलते शहर में जगह-जगह जाम की स्थिति बनी हुई है। नए बस स्टेंड, भूतेश्वर तिराहा, श्रीजी बाबा आश्रम, डीग गेट तिराहा, भरतपुर गेट तिराहा, होलीगेट आदि पर जाम लग रहा है।

सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने में जुटे सफाईकर्मी
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर शहर को साफ रखने के लिए नगर निगम के सफाई कर्मी दिन रात जुटे हुए हैं। उन्हें शहर को साफ रखने की जिम्मेदारी दी गई है। जिस पर खरा उतरने के लिए वह काफी प्रयास कर रहे हैं। कुछ सड़कों को साफ कर रहे हैं तो कुछ कूड़े को गाड़ियों में भर रहे हैं। तो कुछ सफाई कर्मी इस कूड़े को शहर से बाहर फेंकने में जुटे हैं।