अधिकारी के आवास में हुई रेलवे कर्मी की मौत, मचा हड़कंप

0
598

मथुरा। रेलवे के एक तकनीशियन की उसके अफसर के बंगले के अंदर संदिग्ध परिस्थतियों में मौत हो गई। आवास के अंदर मौत होने से घबराए रेलवे अधिकारी ने शव को घर के बाहर रखवा दिया। जानकारी मिलते ही मृतक के परिजन मौके पर पहुंच गए। आवास के अंदर मौत होने कारण रेलवे अधिकारी इस मामले को दबाने में लगे हुए हैं। हालांकि तकनीशियन की मौत की पुष्टि आधिकारिक तौर पर नहीं हो सकी है। उसे उपचार के लिए निजी अस्पताल ले जाया जाना बताया जा रहा है।
जैंत चैकी अंतर्गत गांव राल भदार निवासी जगदीश प्रसाद रेलवे में तकनीशियन पद पर कार्यरत था। वह धौलीप्याऊ रेलवे इंस्टीट्यूट के निकट स्थित एक रेलवे अधिकारी के बंगले पर विगत काफी समय से रह रहा था। सूत्रों के अनुसार, बुधवार को संदिग्ध परिस्थितियों में आवास के अंदर ही जगदीश की मौत हो गई। इसकी जानकारी मिलते ही अफसर सुमित कुमार ने शव को बंगले से बाहर रखवा दिया क्योंकि रेलवे द्वारा हाल ही में जारी किए गए नियमों के अनुसार रेलवे अफसरों के आवास के अंदर अब रेलवे कर्मी नहीं रह सकते हैं। जबकि जगदीश की मौत अधिकारी के आवास के अंदर ही हुई है। इससे घबरा कर ही जगदीश के शव को बाहर रखवा दिया गया। जानकारी मिलते ही जगदीश के परिजन मौके पर पहुंच गए और हंगामा शुरु कर दिया। वहीं मामला एक अधिकारी से जुड़ा होने के कारण रेलवे अधिकारी इसे दबाने का प्रयास कर रहे हैं। वहां पहुंचे अन्य रेलवे अधिकारियों ने मामले को दबाने के लिए जगदीश को उपचार के लिए निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया। हालांकि अभी तक आधिकारिक तौर पर जगदीश की मौत की पुष्टि नहीं हो सकी है। धौलीप्याऊ चैकी इंचार्ज ने बताया कि जगदीश को उपचार के लिए निजी अस्पताल में भेजा गया है। उसे मिर्गी के दौरे पड़ते हैं। अभी जगदीश की मौत की जानकारी नहीं हो सकी है।