बाजना में खाद्य विभाग ने दूध के लिए सैंपल, मचा हड़कंप

0
248

मथुरा। कस्बा बाजना क्षेत्र में बड़े पैमाने पर नकली मावा, दूध, पनीर एवं घी निर्माण की शिकायत पर खाद्य विभाग की टीम ने बुधवार को छापे मारी करते हुए दूध के टैंकरों को पकड़ा। टीम ने 4 टैंकरों से दूध का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा। खाद्य विभाग की यह छापेमारी कार्यवाही आगे भी जारी रहेगी।
मथुरा जनपद में विगत काफी वर्षां से नकली मावा, दूध, घी एवं पनीर निर्माण का व्यापार जोरों पर चल रहा है। मथुरा में कस्बा बाजना इस जानलेवा व्यापार का बड़ा केंद्र बना हुआ है। सब कुछ जानने के बाद भी खाद्य विभाग द्वारा यहां सिर्फ नाम के लिए ही कार्यवाही की जाती है। सूत्रों के अनुसार कई बार तो कार्यवाही करने से पूर्व ही डेयरी संचालकों को छापे की जानकारी दे दी जाती है। ताकि वह डेयरी पर रखे हुई अवैध वस्तुओं को वहां से हटा लें। इसके बाद ही वहां छापा मारा जाता है। बताया जाता है कि नकली खाद्य पदार्थां का व्यापार कर रहे यह डेयरी संचालक इतने दबंग हैं कि खाद्य विभाग की टीम पुलिस के साथ जाकर कार्यवाही करने में भी कतराती है। दबंग डेयरी संचालकों द्वारा पूर्व में एक सीओ तक के साथ धक्का मुक्की करते हुए उसकी सरकारी पिस्टल तक छीन ली गई थी। जो कि बमुश्किल एक राजनेता के हस्तक्षेप के बाद बरामद हो सकी थी। इस नकली दूध, घी, मेवा एवं पनीर निर्माण की लगातार मिल रही शिकायतों के बाद खाद्य विभाग ने बुधवार को एक दिखावे की कार्यवाही करते हुए बाजना में बाहर से आने वाले दूध के टैंकरों को पकड़ लिया। इनमें से 4 टैंकरों से दूध का सैंपल भी लिया गया। इसके बाद इन्हें जाने दिया गया। हालांकि इस कार्यवाही से भी स्थानीय डेयरी संचालकों के बीच थोड़ी बहुत हलचल रही। मांट क्षेत्र के खाद्य सुरक्षा अधिकारी मुकेश कुमार ने बताया कि 4 टैंकरों से दूध के सैंपल लिए गए हैं। उन्हें जांच के लिए भेजा जा रहा है। जल्द ही डेयरियों पर भी छापा मार कार्यवाही की जाएगी।