पत्रकार के साथ अभद्रता में चौकी इंचार्ज लाइन हाजिर, 3 निलंबित

0
294

मथुरा। प्रदेश में बीते कई माह में पत्रकारों के साथ पुलिस अधिकारियों द्वारा अभद्रता करने की कई घटनाएं सामने आईं। इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खुले तौर पर पत्रकारों के पक्ष में उतरना पड़ा। सीएम योगी ने स्पष्ट कहा था कि पुलिस अधिकारी अपनी इस कार्यशैली को सुधार लें और पत्रकारों के साथ अभद्रता न करें। इसके बाद भी पुलिस अधिकारी पत्रकारों के साथ बदतमीजी करने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसा ही एक ताजा मामला मथुरा में सामने आया। यहां एक पत्रकार के साथ गोवर्धन स्थित अपने घर जाते समय अडींग पुलिस चौकी के स्टाफ ने अभद्रता कर दी। विरोध किया तो हाथापाई पर उतर आए। पता चलने पर पत्रकार पुलिस के विरोध में उतर आए। एसएसपी ने चौकी इंचार्ज को लाइन हाजिर कर दिया है। वहीं एक दरोगा और 2 सिपाहियों को निलंबित कर दिया गया है।
गोवर्धन निवासी श्याम जोशी एक प्रमुख अखबार में पत्रकार हैं। वह गत रात्रि गोवर्धन स्थित अपने घर जा रहे थे। रास्ते में अडींग के निकट कुछ पुलिस कर्मियों का श्रद्धालुओं से विवाद हो रहा था। श्याम जोशी ने पुलिस कर्मियों से इसका विरोध करते हुए कारण पूछा। इसी बात पर विवाद बढ़ गया। पुलिस कर्मी अभद्रता पर उतर आए। पत्रकार जोशी ने इसका विरोध किया तो पुलिस कर्मियों ने श्याम जोशी पर हमला बोलते हुए लाठी-डंडों से पिटाई कर दी। इसके बाद श्याम जोशी को थाने ले गए। श्याम जोशी ने इस घटना की जानकारी अपने अन्य साथियों को दी। रात्रि में ही पत्रकार साथियों ने पुलिस की इस कार्यशैली का एसएसपी शलभ माथुर से विरोध जताया। बुधवार की सुबह पत्रकार जोशी का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया। एसएसपी भी श्याम जोशी से उनका हाल चाल पूछने के लिए जिला अस्पताल पहुंचे। यहां एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि पत्रकार श्याम जोशी के साथ अभद्रता करने वाले अडींग चौकी पर तैनात चौकी इंचार्ज राजेंद्र सिंह को लाइन हाजिर कर दिया है। एसआई यशपाल सिंह, सिपाही धर्मेंद्र कुमार और सोहित कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। साथ ही अन्यत्र जनपद में स्थानांतरण के लिए आवश्यक कार्यवाही करने का भी आश्वासन दिया है। एसएसपी ने घटना की जांच कराने के साथ अन्य दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने और पत्रकारों के साथ अभद्रता करने वाले किसी भी पुलिस कर्मी को न बख्शे जाने का आश्वासन दिया है। पत्रकार श्याम जोशी एसएसपी द्वारा आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ की गई कार्यवाही से संतुष्ट नजर आए।