जल संरक्षण के लिए मंत्री, डीएम एवं ग्रामीणों ने ली शपथ

0
242

मथुरा। जनपद में लगातार भूगर्भ जल का स्तर नीचे गिरता जा रहा है। इससे आने वाले समय में जनपदवासियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। जल का संरक्षण करने के लिए केंद्र सरकार एवं प्रदेश सरकार भी प्रयासरत हैं। पीएम मोदी ने तो बकायदा देश के सभी ग्राम प्रधानों को एक पत्र लिखकर जल संरक्षण करने का अनुरोध किया है। इसी कड़ी में शनिवार को प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री ने ब्लॉक मथुरा के गांव जुनसुटी में ग्रामीणों को जल संरक्षण की शपथ दिलाई। साथ ही ग्रामीणों के साथ ल संरक्षण एवं वर्षा जल संरक्षण कार्यक्रम के तहत फावड़ा चलाकर एवं नारियल फोड़कर शुभारंभ किया।
उप्र सरकार के पंचायती राज(स्वतन्त्र प्रभार) व लोक निर्माण विभाग राज्य मंत्री एवं जनपद के प्रभारी मंत्री चौधरी भूपेन्द्र सिंह ने केंद्र व राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे जल संरक्षण एवं वर्षा जल संचय अभियान कार्यक्रम के अन्तर्गत शनिवार को को विकास खण्ड मथुरा की ग्राम पंचायत जुनसुटी के तालाब में ग्रामीणों के साथ फावड़ा चलाकर एवं नारियल फोड़कर अभियान का शुभांरम्भ किया। मंत्री ने ग्राम पंचायत में चौपाल लगाकर ग्रामीणों को मन, वचन और कर्म से जल की एक-एक बूंद का सदुपयोग करने एवं अपनी ग्राम पंचायत में जल की बर्बादी नहीं होने देने की अपील की। “जल है तो कल है“ इस मूल मंत्र के साथ जल संरक्षण के प्रति ग्राम पंचायत के लोगों को जागरूक करने की हाथ उठवाकर शपथ दिलायी। परियोजना निदेश्शक आरके त्रिवेदी ने प्रधानमंत्री मोदी का सरपंचों के नाम संबोधित संदेश पत्र पढ़कर सुनाया। इसमें प्रधानमंत्री ने आग्रह करते हुए कहा कि हम ऐसे इंतजाम करें कि बारिश्श के पानी का ज्यादा से ज्यादा संचयन कर सकें। खेतों की मेड़बंदी, नदियों और धाराओं का चैक डैम निर्माण तथा तालाबों की खुदाई एवं सफाई, पौधारोपण, वर्षा जल के संचयन हेतु जलाश्शय आदि का बड़ी संख्या में निर्माण किया जाए। ताकि “खेत का पानी खेत में और गांव का पानी गांव में“ संचयित किया जा सके।

उन्होंने विश्वास जताया कि ग्रामीण स्तर पर हम सब मिलकर जल की हर एक बूंद का संचयन करके अपने परिवेश्श को परिष्कृत बनाएंगे। यह भी कहा कि स्वच्छता अभियान को जन आंदोलन की भांति पानी की समस्या पर इस आगामी अभियान को एक जन आंदोलन का स्वरूप देकर इसे सफल बनाने में अपना नेतृत्व प्रदान करेंगे। चौपाल के दौरान मंत्री जी ने जनता की समस्याओं को भी सुना और सम्बन्धित अधिकारियों को मौके पर ही प्रभावी निस्तारण करने के निर्देश्श दिए। उन्होंने लोगों से सबमर्सिबल का कम से कम उपयोग करने का अनुरोध किया। इस अवसर पर विधायक कारिंदा सिंह, जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र, जिला पंचायत राज अधिकारी प्रीतम सिंह, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि पन्नालाल गौतम, ग्राम प्रधान राजपाल सिंह सहित भारी संख्या में ग्रामीण उपस्थित रहे।