भागवताचार्य ठा. देवकीनन्दन महाराज को मिली हत्या की धमकी

0
434

वृन्दावन । कोसीकलां में भाजपा नेताओं को मिली मौत की धमकी के पत्रों के मामले का खुलासा अभी शांत भी नहीं हुआ था कि देश के प्रमुख भगवताचार्य ठा. देवकीनन्दन महाराज को मिले धमकी भरे पत्र ने हड़कम्प मचा दिया है मामले में अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। घटना की जांच में खूफिया विभाग की टीम लगी हुई है।

पिछले दिनों कोसीकलां में भाजपा नेताओं को धमकी भरे पत्र के बाद 27 अप्रैल को अन्तर्राष्ट्रीय भागवत प्रवक्ता एवं वृन्दावन में प्रियाकान्तजू मंदिर के संस्थापक देवकीनंदन ठाकुरजी महाराज को अज्ञात कट्टरपंथी संगठन की ओर से धमकी भरा पत्र मिला है । पत्र में हिंदु धर्म का मजाक उड़ाते हुये गाय और राममंदिर को लेकर आपत्तीजनक टिप्पणी की गयी हैं । वहीं बहुसंख्यक समाज के पक्षधरों का सामूहिक नरंसहार करने की धमकी दी गयी है । प्रियाकान्तजू मंदिर प्रबंधक एवं देवकीनंदन महाराज के भाई रमेश कुमार शर्मा की ओर से वृन्दावन कोतवाली में इसकी एफआईआर दर्ज करायी गयी है ।
शिकायत के अनुसार दिनांक 27.04.2019 को डाक के माध्यम से एक पत्र प्रियाकान्तजू मंदिर कार्यालय को प्राप्त हुआ । जिसमें किसी अज्ञात व्यक्ति/संगठन की और से खुद को कथित मुजाहिद्दीन कहते हये बेहद आपत्तिजनक शब्दों के साथ सामूहिक हत्याओं की धमकी दी गयी हैं । तीन पन्नों के पत्र में ईस्लाम में गौ-हत्या को जरूरी बताते हुये जिहाद से हिंन्दुत्व के पक्षधरों को अंजाम भुगतने की चेतावनी दी गयी है । पत्र में गैर मुस्लिमों को काफिर बताते हुये लिखा गया है कि ‘अपनी मौत की घड़ियाँ गिनना शुरू कर दो ।’’


धमकी भरे पत्र की लिफाफे पर मंदिर के नाम के साथ अलग पैन से अत्यावश्क लिखा हुआ वहीं अलग नोट में पोस्टमेन के लिये संदेश लिखा है कि ‘पोस्टमेन भाई अवष्य पहुॅंचावे, मैं वृन्दावन से पोस्टमेन कह रहा हूॅं ।’
गौरतलब है कि देवकीनंदन ठाकुरजी महाराज छटीकरा मार्ग स्थित प्रियाकान्तजू मंदिर के संस्थापक तथा विश्व शांति सेवा चैरीटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं । हिंदुत्व विचारधारा एवं सनातन धर्म के प्रखर प्रचारक के रूप में उनकी पहचान है । लाखों शिष्य आध्यात्मिक धर्मगुरू के रूप में उनका अनुसरण करते हैं । वे पिछले कई वर्षों से गऊ रक्षा, कन्या भ्रुण रक्षा एवं देशभक्ति के जनजागरूकता कार्यक्रम चलाते रहे हैं ।
विश्व शांति सेवा चैरीटेबल ट्रस्ट के सचिव विजय शर्मा का कहना है कि इससे पूर्व भी देवकीनंदन महाराज पर जानलेवा हमला हो चुका है । पिछले वर्ष भी एक व्यक्ति के द्वारा वीडियो जारी करके महाराजश्री को जान से मारकर टुकड़े-टुकड़े करने की धमकी दी गयी थी । जिसकी रिर्पोट वृन्दावन कोतवाली में दर्ज करायी गयी थी ।

इस धमकी भरे पत्र के बाद से प्रियाकान्तजू मंदिर परिकर एवं देवकीनंदन महाराज के घर-परिवार में सुरक्षा को लेकर भय व्याप्त है। प्रशासन को इसकी जानकारी दे दी गयी है । देर सांय पुलिस अधिकारी एवं एलआईयू अफसरों ने शांति सेवा धाम पहुॅंचकर मामले की जानकारी की है ।
इस धमकी के पत्र को हल्के में ना लिया जाये । पत्र में एक समाज के लिये जिस भाषा का प्रयोग किया गया है वह गंभीर है । जिस भी व्यक्ति या संगठन ने यह भेजा है प्रशासन उसकी जाँच कर पता लगाये । देवकीनंदन महाराज सनातन धर्म का प्रचार-प्रसार कर रहे हैं। उनसे लाखों अनुयायियों की आस्था जुड़ी हुई हैं । हम उनकी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।
-विजय शर्मा, सचिव, विश्व शांति सेवा चैरीटेबल ट्रस्ट, प्रियाकान्तजू मंदिर, वृन्दावन ।

कोसीकलां में धमकी भरे पत्रों ने फैलाई सनसनी, पुलिस बल तैनात