यूपी पुलिस का सिपाही चला रहा पर्यावरण संरक्षण की मुहिम

0
212

 

मथुरा। उप्र पुलिस का एक सिपाही पुलिस की लोगों के बीच बन चुकी खराब छवि को बदलने के प्रयास में लगा हुआ है। मथुरा के कस्बा नौहझील का यह सिपाही बीते काफी समय से पर्यावरण संरक्षण की अलख जगा रहा है। सोशल मीडिया के साथ अन्य माध्यमों से भी लोगों को पौधे लगाने के लिए प्रेरित कर रहा है। इसके लिए वह स्वयं अपने वेतन का 10 प्रतिशत हिस्सा प्रतिमाह पौधों पर व्यय भी करता है।


विकासखंड नौहझील के गांव अवाखेड़ा निवासी अजीत सिंह वर्तमान में यूपी पुलिस में कार्यरत है। वर्तमान में उनकी तैनाती आगरा के खंदौली में यूपी 100 में है। अजीत सिंह ने पर्यावरण को बचाने के लिए बीते करीब 2 वर्ष से ही एक मुहिम छेड़ रखी है। फेसबुक, व्हाट्स अप के साथ अन्य माध्यमों से वह लोगों से अधिक से अधिक पेड़ लगाने और उनके संरक्षण करने की अपील कर रहे हैं। वर्ष 2018 में फेसबुक के माध्यम से अपने सभी दोस्तों से 1लाख पेड़ लगवाने का लक्ष्य रखते हुए अपील की थी। जबकि वर्ष के अंत में उनके अथक प्रयास से लगभग 150000 पेड़ लग चुके हैं। उनके एटा में कार्यकाल के दौरान वहां के जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक भी उनकी इस पर्यावरण संरक्षण की मुहिम से काफी प्रभावित हुए थे। वहां के एसएसपी ने सिपाही अजीत सिंह को 2000 रूपये नकद पुरस्कार व् प्रशस्ति पत्र दिया था।

अजीत सिंह ने लोगों को जागरुक करने के लिए पर्यावरण संबंधी गाने भी बनाए हैं जो कि उनके यूट्यूब पर ‘हरियाली अजीत चौधरी’ के नाम से बने चैनल पर उपलब्ध हैं। इसके अलावा होली पर भी लोगों को जागरूक करने के लिए बहुत ही अच्छा संदेश देने वाला गाना भी बनाया था। अजीत सिंह पिछले 2 वर्ष से अपने वेतन का 10 प्रतिशत पेड़ पौधों पर खर्च करते हैं। विषबाण से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि वह ड्यूटी समाप्त करने के बाद जगह-जगह जाकर लोगों को और विद्यालयों में जाकर विद्यार्थियों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करते हैं। अजीत सिंह कहते हैं कि पर्यावरण बचाने के लिए देश के प्रत्येक नागरिक को कम से कम 1 पौधा लगाना चाहिए और उसका संरक्षण भी करना चाहिए। ताकि देश में हरियाली बनी रहे।