परिषदीय विद्यालय में शिक्षकों के साथ ग्रामीणों ने की अभद्रता-मारपीट

0
395

मथुरा। विकासखंड राया के गांव तैयापुर के पूर्व माध्यमिक और प्राथमिक विद्यालय की शिक्षिकाओं के साथ स्थानीय ग्रामीणों द्वारा अभद्रता करने और मारपीट करने का मामला सामने आया है। पीड़ित शिक्षिकाओं का आरोप है कि इस विवाद के पीछे विद्यालय की ही एक शिक्षिका की शह है। उसके इशारे पर ही ग्रामीणों ने मारपीट की है। पीड़ित शिक्षिक-शिक्षिकाओं द्वारा घटना से पुलिस और विभागीय अधिकारियों को अवगत कराया है।

विद्यालय में मौजूद यूपी-100 पुलिस वाहन और स्थानीय ग्रामीण।

प्राथमिक विद्यालय तैयापुर की प्रधानाध्यापिका मीना सागर को कुछ समय पूर्व कुछेक अनियमितताओं को लेकर विभाग द्वारा निलंबित कर दिया गया था। 8 मार्च को उसे इस शर्त पर अनंतिम बहाली दी गई कि उसे वित्तीय चार्ज नहीं सौंपा जाएगा। वर्तमान में प्राथमिक विद्यालय का चार्ज पूर्व माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक भगवती प्रसाद शर्मा के पास है। आरोप है कि मीना सागर को बहाली का पत्र मिला तो उसके बाद वह विद्यालय पहुंची और भगवती प्रसाद से समस्त चार्ज सौंपने की मांग की। इस पर भगवती प्रसाद शर्मा ने बीएसए के आदेश पत्र में वित्तीय चार्ज न दिए जाने के आदेश का हवाला दिया लेकिन मीना सागर वित्तीय चार्ज लेने के लिए अड़ी रहीं। बीते कई दिनां से यह विवाद विद्यालय में चल रहा था। इस विवाद के चलते ही गुरुवार 12 अपै्रल की सुबह जब शिक्षक-शिक्षिकाएं विद्यालय पहुंचे तो वहां पहले से ही सैकड़ों ग्रामीण विद्यालय में मौजूद थे। इनमें पुरुषों के साथ महिला और युवा भी शामिल थे। आरोप है कि भीड़ ने मीना सागर को चार्ज न देने का आरोप लगाते हुए शिक्षक-शिक्षिकाओं के साथ अभद्रता कर दी। इनमें एक शिक्षिका के साथ मारपीट करने का भी आरोप लग रहा है। पीड़ित शिक्षिका डॉ रीना अग्रवाल का आरोप है कि इस विवाद में स्थानीय पार्षद पति की अहम भूमिका है। मीना सागर के इशारे पर पार्षद पति ने ग्रामीणों के साथ मिलकर शिक्षक स्टाफ के साथ अभद्रता और मारपीट की है।

घटना से घबराए स्टाफ ने 100 नंबर पर फोन कर पुलिस को सूचना दी। सूचना पर यूपी-100 की गाड़ी के साथ थाना यमुनापार से भी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गया। पुलिस ने बल पूर्वक भीड़ को विद्यालय से बाहर निकाला। घटना के बाद पीड़ित स्टाफ ने पुलिस को लिखित तहरीर दी। इसके बाद सभी बीएसए कार्यालय पहुंचे। यहां बीएसए चंद्रशेखर से मुलाकात नहीं हो सकी। राया के खंड शिक्षा अधिकारी जाकिर हुसैन से पीड़ितों ने बात की। राया एबीएसए ने पीड़ित शिक्षकों को उचित कार्यवाही का भरोसा दिया। पीड़ितों ने आरोपी शिक्षिका मीना सागर की बहाली रद्द करने की भी मांग की। इस पर एबीएसए ने इस मांग को बीएसए के सामने रखने का आश्वासन दिया। इस दौरान पूर्व माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अतुल सारस्वत और कोषाध्यक्ष मनोज शर्मा भी मौजूद रहे।