20 लाख हड़पने के लिए आरएसएस कार्यकर्ता ने रची खुद की हत्या की साजिश

0
189

भोपाल। देशभक्ति और ईमानदारी को चोला पहने आरएसएस के एक कार्यकर्ता ने बीमा की धनराशि हड़पने के लिए अपने ही पूर्व नौकर की हत्या कर दी। इसके बाद नौकर को अपने ही कपड़े पहनाकर उसका चेहरा भी जला दिया ताकि नौकर की शिनाख्त न हो सके और सभी लोग यही समझें कि आरएसएस कार्यकर्ता की ही हत्या हुई है।
मध्य प्रदेश के रतलाम के गांव कमेड़ में कुछ दिन पूर्व एक शव मिला था। शव की स्थिति को देखकर कयास लगाए जा रहे थे कि यह शव आरएसएस कार्यकर्ता हिम्मत पाटीदार का है। साथ ही हत्या का शक उसके नौकर मदन मालवीय पर जा रहा था क्यों कि वह हत्या के बाद से ही लापता था। जब पुलिस ने मामले की जांच की तो प्रारंभिक तथ्यों के आधार पर यह माना गया कि यह शव मदन मालवीय का भी हो सकता है। पुलिस ने इसी एंगल पर जांच को मोड़ते हुए शव की डीएनए जांच कराई। जब डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट आई तो पुलिस के साथ स्थानीय लोग भी आश्चर्यचकित हो गए क्योंकि शव नौकर मदन मालवीय का ही था। अब माना जा रहा है कि आरएसएस कार्यकर्ता हिम्मत पाटीदार ने मदन की हत्या कर उसे अपने कपड़े पहना दिए थे और उसका चेहरा भी जला दिया था ताकि उसकी शिनाख्त न हो सके और लोग उसे हिम्मत पाटीदार ही समझें। पुलिस की कहानी मानें तो हिम्मत पाटीदार पर बाजार का लगभग 10 लाख रुपए का कर्ज था। साथ ही उसने दिसंबर माह में अपना 20 लाख रुपए का बीमा भी कराया था। कर्ज न चुकाना पडे़ और बीमा की धनराशि का भी लाभ मिल जाए। इसके लिए उसने नौकर मदन मालवीय की हत्या कर दी। अभी हिम्मत पाटीदार पुलिस की पकड़ से दूर बना हुआ है। एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि पुलिस उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही है। उसकी गिरफ्तारी पर दस हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है।