भाजपा पार्षद ने पंचायत घर को बना दिया चिकित्सालय

0
56

मथुरा। ‘‘सैंया भये कोतवाल, अब डर काहे का’’ की पंक्तियां भाजपा के दबंग नेताओं पर सटीक साबित हो रही हैं। एक तरफ मेयर के भाई पार्टी पार्षद पर गालियों की बौछार के लिये चर्चित हो चुके हैं तो दूसरी तरफ भाजपा पार्षद ने ग्राम पंचायत घर पर पर कब्जा कर प्राइवेट चिकित्सालय खोल दिया। जिसका विरोध करने वालों को धमकी दी जा रही है।
‘‘ना भ्रष्टाचार, ना गुण्डाराज’’ के नारे की भाजपा नेता ही किस तरह धज्जियां उड़ा रहे हैं इसके नजारे आये दिन मथुरा में सामने आ रहे हैं। जिसमें मथुरा-वृन्दावन नगर निगम के महापौर मुकेश आर्यबंधु के भाई महेश काजू ने पिछले दिनों भाजपा पार्षद दीपक गोला को मोबाइल पर जमकर गालियां दीं। जिसका ऑडियो ‘‘विषबाण’’ द्वारा जारी किया गया। इस मामले के रंग पकड़ने पर सफाई नायक मेयर के भाई को निलंबित कर जांच कमेटी बैठा दी गई। इसी तरह वार्ड 40 के पार्षद श्याम सिंह ‘‘जनरेटर’’ द्वारा विद्युत कर्मचारियों से मारपीट कर दी गई जिसमें ऊर्जा मंत्री द्वारा जैसे-तैसे मामले को रफा-दफा किया गया। इस पार्षद की दबंगई का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि नगर निगम की सीमा में आ चुके ग्राम पंचायत सराय आजमाबाद ;आजमपुरद्ध के पंचायत घर जो अब नगर निगम के वार्ड 40 में है पर कब्जा कर एक प्राइवेट चिकित्सक को किराये पर उठा दिया गया है। जब ‘‘विषबाण’’ की टीम ने उक्त पंचायत घर में चल रहे निजी चिकित्सालय को कैमरे में कैद किया तो पार्षद समर्थकों ने हंगामा खड़ा कर विरोध जताया।
इस सम्बंध में चिकित्सालय का संचालन कर रहे चिकित्सक का कहना था कि पार्षद ने पंचायत घर के रख-रखाव के कारण उन्हें बिना किराये के दिया गया है। जिसकी वह समय-समय पर मरम्मत करते रहते हैं। इस सम्बंध में भाजपा पार्षद श्याम सिंह ने कहा कि ग्राम पंचायत घर सुरक्षित रहे इसके लिये उसे बगैर किराये के चिकित्सक को जनसेवा के लिये दिया गया। उन्होंने किराये पर उठाने के आरोप को निराधार बताया। जानकार सूत्र बताते हैं कि सत्ता की चकाचौंध में भाजपा नेता कहीं जमीनों को कब्जाने में लगे हैं तों कहीं चौथ वसूली में लगे हुए हैं। जिसके कारण भयमुक्त समाज के दावे की धज्जियां उड़ रही हैं।