मथुरा पत्रकार युवती से रेप : शिक्षक, पत्रकार सहित तीन के खिलाफ मुकद्मा दर्ज

0
461

मथुरा। महिला पत्रकार के साथ सरकारी शिक्षक द्वारा शादी के बहाने बलात्कार किये जाने के मामले में उपजा के उपाध्यक्ष कमलकान्त उपमन्यु एवं शिक्षक सहित तीन के विरूद्ध मथुरा न्यायालय के आदेश के बाद फरह पुलिस ने छेड़छाड़, षड़यंत्र एवं बलात्कार सहित अन्य धाराओं में मुकद्मा दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है। मामला दर्ज के बाद हड़कम्प मचा हुआ है।

प्राप्त विवरण के अनुसार मथुरा में एक समाचार पोर्टल से एक युवती पत्रकारिता के क्षेत्र से जुड़ी हुई थी जिसमें करीब दो साल पूर्व उसके पास यशपाल पचइयां आया और उससे अपने मित्र संजय चौधरी जो सरकारी शिक्षक है की पत्नी के मरने का हवाला देते हुए उससे शादी करने का प्रस्ताव रखा। जिसे महिला पत्रकार ने स्वीकार कर गहरे सम्बन्ध बना लिये। इसके बाद संजय चौधरी एवं महिला पत्रकार के बीच शारीरिक सम्बंध भी स्थापित हो गये। महिला पत्रकार द्वारा जब-जब शिक्षक से शादी का प्रस्ताव रखा तब-तब वह टाल-मटोल करता रहा। इसके बाद पुनः जब शारीरिकर सम्बन्ध बनाने का विरोध किया तो वह आग बबूला हो गया। जिसके बाद 13 मई 2018 को रात्रि करीब 8 बजे गाड़ी से आया और जबरदस्ती बलात्कार किया। इसके बाद 16 मई 2018 को संजय चौधरी निवासी आनन्दवन एन.एच-2 थाना हाइवे मथुरा, उपजा के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं वरिष्ट पत्रकार कमलकान्त उपमन्यु निवासी हनुमान नगर धौलीप्याऊ मथुरा, यशपाल पचईयां महिला पत्रकार के पास आये और धमकी देने लगे कि अगर कोई कार्यवाही की तो जान से खत्म कर देंगे विरोध करने पर सभी ने एक राय होकर उसके साथ छेड़खानी करते हुए अभद्र व्यवहार किया।

घटना स्थल फरह टोल टैक्स के निकट दर्शाते हुऐ पीड़िता ने थाना फरह एवं वरिष्ट पुलिस अधीक्षक मथुरा से मुकद्मा दर्ज कराने का प्रार्थना पत्र दिया। जिसमें रिपोर्ट दर्ज ना होने पर पीड़िता ने 156 (3) के तहत न्यायालय में याचिका दायर की। जिसमें आरोपी पक्ष की ओर कई प्रमुख अधिवक्ताओं ने तमाम दलालें प्रस्तुत की। जबकि पीड़िता के अधिवक्ता प्रताप सिंह राना, जय कुमार चौहान एड०, ने बहस की। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद गत 4 अक्टूबर 2018 को लंबी सुनवाई के बाद अपर न्यायिक मजिस्ट्रेट छाया शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट के कई निर्णयों का हवाला देते हुए आरोपियों के खिलाफ थाना फरह पुलिस को मुकद्मा दर्ज करने के आदेश दिये हैं। जिसके बाद फरह पुलिस ने पत्रकार कमलकान्त उपमन्यु, शिक्षक संजय चौधरी, मित्र यशपाल पचइयाँ के खिलाफ धारा 376, 420, 354 (ख), 504, 506 के तहत मामला दर्ज कर विवेचना शुरू कर दी है। इस मामले में आरोपी शिक्षक का महिला पत्रकार के साथ वीडियो वायरल होने के बावजूद भी शिक्षा विभाग के अफसरों द्वारा आजतक कोई कार्यवाही नहीं की गई है। जिससे उच्च अधिकारियों की कार्यशैली पर भी प्रश्न चिन्ह् लगा हुआ है।

क्या है पूरा मामला – http://www.vishban.com/2018/05/28/mathruras-crocodile-trapped-in-the-sachs-racket-trap/