करंट से मरे पति की विधवा को बीमा कंपनी को देनी होगी 2 लाख की राशि

0
50

मथुरा। विद्युत करन्ट से हुई मौत के बाद दुर्घटना बीमा राशि ना देने पर उपभोक्ता फोरम ने भारतीय जीवन बीमा निगम को दो लाख की राशि ब्याज सहित अदा करने के आदेश दिये हैं।
प्राप्त विवरण के अनुसार रजनी सारस्वत निवासी जमुना विहार बीएसए कॉलेज के पीछे मथुरा के पति राम निवास की मौत विद्युत करन्ट से हो गई। जिनके एक-एक लाख के दो बीमा भारतीय जीवन बीमा निगम से थे। लेकिन बीमा कम्पनी ने राम निवास की मौत को करन्ट से ना मानते हुऐ स्वाभिक बताते हुए बीमा दावा खारिज कर दिया। जिसके खिलाफ पीड़िता ने उपभोक्ता में परिवाद दर्ज किया। जहां बीमा कम्पनी की ओर से तमाम दलीलें दी गईं। जिन्हें फोरम अध्यक्ष योगेन्द्र सिंह सदस्य सूफिया असरफ ने नकारते हुऐ पीड़िता पति की मौत विद्युत करन्ट से मानते हुऐ दुर्घटना बीमा की राशि दो लाख रूपये 6 प्रतिशत की साधारण ब्याज के साथ तथा वाद व्यय के रूप में 4 हजार की राशि 1 माह के अन्दर अदा करने के आदेश बीमा कम्पनी को दिये हैं।

कुत्ता काटने से हुई मृत्यु, पत्नी को मिलेंगे 2 लाख की बीमा राशि

मथुरा। कुत्ता काटने से हुई मृत्यु के मामले में उपभोक्त फोरम ने दुर्घटना बीमा के तहत मृतका की पत्नी को दो लाख की बीमा राशि ब्याज सहित बीमा कम्पनी को एक माह के अन्दर अदा करने के आदश्े दिये हैं।
शशि निवासी गांव अनुआ तहसील मांट के पति रामजी लाल की मौत कुत्ते के काटने से 7 मार्च 2013 को हो गई थी। जिसका बीमा न्यू फैमली गेन यूलिप के तहत बजाज एलियान्ज से था। जिसकी वार्षिक किस्त तीन साल तक 10 हजार रूपये थे। जिसे प्रतिवर्ष जमा किया गया। जिसके बाद कुत्ते के काटने से मौत हो गई। जिसमें बीमा कम्पनी द्वारा बीमा धन राशि तो अदा कर दी गई लेकिन दुर्घटना बीमा की 2 लाख की राशि अदा नहीं की गई। जिस पर पीड़िता ने उपभोक्ता फोरम में परिवाद दर्ज किया। फोरम अध्यक्ष योगेन्द्र सिंह सदस्य सूफिया असरफ ने सुनवाई के दौरान बीमा कम्पनी की दलीलों कि मृतक की एफआईआर दर्ज नहीं कराई और ना ही पोस्टमार्टम कराया गया को खारिज करते हुए ग्राम प्रधान के पत्र, डॉक्टरी इलाज की रिपोर्ट को स्वीकारते हुऐ पीड़िता की दुर्घटना बीमा की 2 लाख की राशि ब्याज के साथ एवं वाद व्यय 4 हजार रूपये 30 दिन के अन्दर अदा करने के आदेश दिये हैं।