जेट एयरवेज की फ्लाइट रद्द होने पर उपभोक्ताओं को 1.5 लाख की क्षतिपूर्ति देने के आदेश

0
83

मथुरा। जेट एयरवेज की फ्लाइट सेवा अचानक निरस्त किये जाने से जगन्नाथ रथ यात्रा से वंचित रहने वाले परिवार को उपभोक्ता फोरम ने पीड़ित को टिकटों की कीमत के साथ क्षतिपूर्ति के रूप में 1,35,000 की राशि एवं होटल बुकिंग की राशि ब्याज सहित तथा वाद व्यय जेट एयरवेज कम्पनी को 45 दिन के अन्दर अदा करने के आदेश दिये हैं।
प्रवीण कुमार राय पुत्र स्व. राधा रमण राय निवासी बृज बिहार कॉलोनी रमण रेती वृन्दावन ने प्रिया ट्रैवल्स एजेंसी इस्कॉन मन्दिर के सामने वृन्दावन से दिल्ली से भुवनेश्वर (उड़ीसा) के लिये भगवान जगन्नाथ रथयात्रा में भाग लेने के लिये परिवार के सदस्यों की 9 टिकट जेट एयरवेज की फ्लाइट संख्या 9W2286W के बुक कराये थे। जिनका मूल्य 36,306 रूपये था। जबकि वापसी का टिकट किंगफिशर एयरलाइन्स से बुक कराये गये थे। जिनकी कीमत 31,356 रूपये थी। जेट एयरवेज ने आकस्मिक तरीके से फ्लाइट की उड़ान निरस्त कर दी। जिससे पूरा परिवार उड़ीसा यात्रा से वंचित हो गया। जिससे एयरलाइंस का आने जाने का टिकट 67,662, होटल बुकिंग 11,200 रूपये, ट्रेन टिकट एक हजार रूपये का नुकसान हुआ। पीड़ित ने फोरम में परिवाद दर्ज कराते हुए आर्थक नुकसान 79,862, परिवार के प्रत्येक सदस्य की मानसिक क्षति के रूप में 1-1 लाख रूपये की मांग का दावा प्रस्तुत किया।
विपक्षी ऑनलाइन एजेंसी, टिकट बुक कर्ता एवं जेट एयरवेज कम्पनी की तरफ से अपनी-अपनी दलीलें प्रस्तुत की गईं। जिसमें एयरवेज कम्पनी की तरफ से फ्लाइट निरस्त करने का अधिकार सेवा शर्तां में बताया गया। लेकिन फोरम अध्यक्ष योगेन्द्र सिंह, सदस्य सूफिया असरफ ने एयरवेज कम्पनी की दलीलों को ठुकराते हुए पीड़ित परिवार के प्रत्येक सदस्य को मानसिक उत्पीड़न के लिये क्षतिपूर्ति के रूप में 15-15 हजार ;कुल 1,35,000द्ध की राशि, होटल बुकिंग खर्चा 11,200 रूपये ब्याज सहित एवं वाद व्यय 4 हजार रूपये तथा टिकट बुकिंग कर्ता एजेंसी होलीडेज एण्ड टिकटिंग लाल बाग लखनऊ को बुकिंग टिकिट की बकाया राशि 30,650 रूपये पीड़ित पक्ष को 45 दिन के अन्दर अदा करने के आदेश दिये हैं।